Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".
Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".

Abhishek Gaurkhede

Others


3  

Abhishek Gaurkhede

Others


खामोशी - एक आवाज़

खामोशी - एक आवाज़

7 mins 220 7 mins 220

शिखा १० साल की है, एक रात जब वो अपने कमरे मे सो रही होती है, तो एक आदमी चेहरे पर नकाब लगाये, उसके कमरे मे आता है, और उसका गला दबा कर मारने की कोशिश करने करता है। शिखा जोर से उसका हाथ हटाती है, और मम्मी मम्मी जोर से चिलाने लगती है। शिखा की आवाज़ सुन कर, उसकी मम्मी रश्मि दौड़ते हुए उसके कमरे मे आती है। शिखा मम्मी को जोरों से गले लगा लेती है। शिखा पसीना पसीना हो चुकी थी और डर से काँप रही थी, वो अपनी मम्मी से कहती है, मेरे कमरे मे कोई है, उसने मेरा गला दबा कर मुझे मारने की कोशिश की, फिर रश्मि चारों तरफ देखती है लेकिन उसको कोई भी नजर नहीं आता है।

वो शिखा के पास जाती है और उसे कहती है, बेटी कमरे मे तो कोई भी नहीं है, आपने ज़रूर कोई बुरा सपना देखा होगा। अब डरने की कोई जरुरत नहीं मम्मी है न तुम्हारे साथ, बेटी अब तुम सो जाओ। शिखा जैसे ही सोने के लिये पीछे होती है, तो उसकी नजर उस आदमी पर पड़ती है, उसकी लाल लाल आंखे, शिखा कोई ही घूर घूर कर देख रही होती है। वो मम्मी से फिर कहती है, मम्मी परदे के पीछे कोई है, रश्मि बोलती है बेटी कोई भी नहीं है, आप सो जाइये मम्मी यही है, तब तक वो आदमी रश्मि के पीछे आकार खड़ा हो चुका रहता है, और उसके हाथ मे एक बड़ा सा चाकू रहता है। शिखा अपनी मम्मी से कहती है, मम्मी वो आपके पीछे ही है, जैसे ही रश्मि पीछे मुड्ती है, वो आदमी रश्मि के ऊपर, चाकू से हमला कर देता है। रश्मि और शिखा जोर से चिल्लाते हैं, और रश्मि खून खून हो जाती है, और उसकी मौत हो जाती है। वो आदमी कहता है कि कभी कभी बच्चों की बात मान लेनी चाहिये।

रश्मि ज़ोर से चिल्लाते हुए नींद से उठ जाती है और उसकी आवाज़ सुन कर उसका हसबेंड रोहित भी उठ जाता है। रश्मि एक दम पसीना पसीना और डरी हुई होती है , रोहित रश्मि से बोलता है, क्या हुआ कोई बुरा सपना देखा क्या। रश्मि पसीना पोंछते हुए बोलती है, हाँ बहुत डरवाना सपना था। रोहित समझाते हुए रश्मि से कहता है, सपना ही तो है, उसमे इतना डरना क्यूँ ; don’t worry सो जाओ।

रोहित ऐसा बोलकर सो जाता है। लेकिन रश्मि को नींद नहीं आती रहती है, वो उठती है और अपने बेटी के कमरे की तरफ जाती है। थोड़ी देर बाद रोहित की नींद खुलती है, और रश्मि को बेड पर ना पा कर वो इधर उधर उसको देखता है, आवाज़ देता है, लेकिन कुछ जवाब नहीं मिलने पर, वो बेड से उठता है और रश्मि को देखने के लिये बाहर जाने को होता है, जैसे ही वो बाहर जाने को होता है, देखता है रश्मि सामने से आ रही है। रोहित रश्मि से बोलता है, तुमने तो मुझे डरा ही दिया था, कहाँ चली गयी थी।  रश्मि रोहित से कहती है, अपनी बेटी को देखने ! रोहित थोड़ा शॉक हो जाता है, उसको अपने पास बिठा कर बोलता है, रश्मि ये तुम क्या बोल रही हो।


जैसे ही वो ऐसा बोलता है फ्लैश बॅक दिखते है ११ साल पहले। रोहित रश्मि का रेस्टॉरंट मे इंतज़ार कर रहा है, थोड़ी देर बाद रश्मि आती है।    

रोहित : हैलो( नॉर्मल स्माइल )                                                      

रश्मि : हैलो ( मस्ती बरे अंदाज़ मे ) आज सूट मे, समथिंग स्पेशल                       

रोहित : येस ( स्माइल देते हुए )                                                   

रश्मि : सो टेल मी इतना अर्जेन्सी मे क्यूँ बुलाया ( थोड़ी क्यूर्योसिटी के साथ )              

रोहित : अरे वैट बाबा, क्या ऑर्डर करू ये बताओ                                        

रश्मि : रोहित, ऑफिस रिटर्न जाना है काम है इंपोर्टेंट, जो तुम्हें ठीक लगे वो ऑर्डर करो और क्या बात करनी थी, थोड़ा जल्दी बोलो।              

रोहित : ओके ओके बाबा, पहले अपनी आंखे बंद करो ( हँसते हुए और नॉर्मल वे मे )                   

रश्मि : क्यूँ यार                                                                 

रोहित : अरे तुम आंखे बंद करो रश्मि आंखे बंद करती है, रोहित रश्मि का हाथ पकड़ कर उसको रेस्टॉरंट के अंदर लेकर जाता है।                     

रोहित : अब अपनी आंखे खोलो।                                                  

रश्मि : ( जैसे ही वो अपनी आंखे खोलती है ) ( शोक और बहुत बड़ी स्माइल के साथ )

हर तरफ बल्लून ही बल्लून रहते है और एक टेबल पर केक रहता है, ( उसमे लिखाया रहता है हॅप्पी ३ rd anniversary ), आज ही के दिन रोहित रश्मि को अपने दिल की बात बताता है और वो हाँ बोलती है।


लेकिन रश्मि को रोहित कहीं भी नजर नहीं आता है, रश्मि रोहित रोहित…करके पुकारती है। तभी रोहित एंट्री करता है और एक पैर पर बैठ कर हाथों मे रिंग लिये हुये, रश्मि को बोलता है, will u marry me ?  रश्मि सिर्फ सर को हाँ मे हिलाती है, रोहित फिर रश्मि को रिंग पहनता है और दोनों एक दूसरे के गले लगते है। रश्मि और रोहित फिर केक कट करते है और एक दूसरे को खिलाते है और सभी लोग ज़ोर से तालियाँ बजाते है।


रश्मि और रोहित की शादी हो चुकी है और कुछ महीने बाद जब रश्मि डॉक्टर के पास नॉर्मल चेक अप के लिये जाती है और वहां उसे पता चलता है कि, वो माँ बने वाली है, वो परेशान हो जाती है, और रोहित से कैसे कहेगी कि उसको ये बच्चा नहीं चाहिये अभी। रश्मि ये सब सोचती रहती है कि तभी उसको किसी बच्चे कि हँसने कि आवाज़ आती है, लेकिन आस पास कोई बच्चा नहीं रहता है।

रोहित जब रात को घर पर आता है, देखता है डोर ओपेन और घर के अंदर अंधेरा ही अंधेरा है, रोहित लाईट चालू करता है, तो देखता है रश्मि सोफ़े पर उदास होकर बैठी हुई है।

रोहित : रश्मि are u alright ?              

रश्मि : आज मे डॉक्टर के पास गयी थी, उन्होने कहा की मैं माँ बने वाली हुई।                   

रोहित ख़ुशी से कुछ बोल पता उसे पहले ही रश्मि बोलती है, रोहित मुझे ये बच्चा अभी नहीं चाहिये, अभी मैं जॉब कर रही हूँ, और i don’t think so की मैं बच्चे के लिए रैडि हूँ।      

रोहित खुशी को छुपते हुए, रश्मि से बोलता है ओके. रश्मि क्लीनिक जा कर बच्चा अबोर्ट कर देती है, लेकिन उसको ऐसा महसूस होता है कि कोई बच्चा रो रहा है लेकिन वहां पर कोई भी नहीं रहता है। दोनों अपने नॉर्मल लाइफ मे बिज़ि हो जाते है।

                                                                

१ साल बाद, रश्मि रोहित से कहती है, क्या हम बच्चे की प्लानिंग कर सकते है, रोहित बहुत खुश हो जाता है और रश्मि को गले लगा कर कहता है हां बिलकुल। बहुत कोशिशों के बाद भी रश्मि मां नहीं बन पाती है, रश्मि रोहित से कहती है, मैं माँ क्यूँ नहीं बन पा रही हूँ और बहुत रोने लगती है, रश्मि कहती है पिछली बार तो मुझे लगभग २ महीने मे ही समझ आ गया था, कि मैं मां बने वाली हूँ, अभी तो ६ महीने होने आ रहे है। रोहित रश्मि को समझता है हम फिर से कोशिश करेंगे, सब कुछ ठीक हो जाएगा। रश्मि रोहित से कहती है, एक बार डॉक्टर को दिखा दे क्या, रोहित ओके कहता है।

दोनों डॉक्टर के पास जाते है वो वही डॉक्टर रहती है, जिसके पास रश्मि पहले भी गयी थी। रश्मि डॉक्टर को सारी बात बताती है, डॉक्टर रश्मि का चेक अप करती है, और रिपोर्ट मे पता चलता है कि रश्मि को कुछ प्रॉब्लेम हो गयी है, डॉक्टर रश्मि को बताती है, की लास्ट टाइम जब उसने बच्चा अबोर्ट किया था, तो ठीक से ध्यान न देने के कारण उसके बच्चे दानी मे कुछ इन्फेक्शन जैसे दिख रहा है, डॉक्टर रश्मि से कहती है, हम लोग कोशिश करेंगे दवाईयां से ठीक करने कि, आप चिंता मत कीजिए सब ठीक हो जायेगा। रश्मि बहुत रोने लगती है। रोहित रश्मि को समझता है, डॉक्टर ने कहा है न सब ठीक हो जायेगा और फिर दोनो हॉस्पिटल से बाहर चले जाते है।                                              


फ्लैश बॅक खत्म करके आज के समय का दिखते है, रोहित रश्मि से कहता है, रश्मि ये तुम क्या बोल रही हो, श्मि रोहित से कहती, मैं सच मे अपनी बेटी को देखने गयी थी। रोहित रश्मि को पकड़ के जोर से चिल्ला कर कहता है " रश्मि we don 't have kids।

रश्मि जोर जोर से रोने लगती है और रोहित को सॉरी बोलती है, रोहित रश्मि को समझता है। रोहित रश्मि को गले लगा लेता और रोहित के आँखो मे भी आँसू आ जाते है।

Background मे वॉइस आती है।


माँ मैंने कहा था न आप मुझे मिस करोगी।



Rate this content
Log in