Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!
Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!

कत्ल से भरी ये दुनिया

कत्ल से भरी ये दुनिया

1 min 247 1 min 247

मैं उन दोनों से मिला

दोनों ने शादी पहन रखी थी

उस लड़की से मिला

वो प्यार पहने घूम रही थी

कल वो दोस्त मिला

उसने दोस्ती पहन रखी थी

कुछ परिवार ऐसे भी थे

जिन्होने पहन रखे थे

अपने माता-पिता ...


और तो और

यहाँ तक हुआ

कुछ देशों ने तो

संसद तक पहन रखी थी


देख रहा हूँ

किसी ने बच्चे पहन रखे है

किसी ने पहन रखा है देश

कोई ताबूत पहने घूम रहा है

तो कोई कत्ल ही साबूत पहने धमका रहा है


ये पहनने वाले

जब चाहे जो पहन लेते है

और कुछ भी उतार देते है


जैसे ...

आज कल बेटों ने

माँ-बाप उतार दिए है

नवविवाहित लड़कियां

शादियाँ उतार रही है

दोस्तों ने मित्रता उतार दी है

शहरों ने हमदर्दी उतार दी है


कौन कब -क्या पहन ले

और क्या उतार दे

कुछ पता नहीं चलता है

दीवारें उतार रही है

माँ-बाप की तस्वीरें

और

घरों ने अपनी-अपनी

छतें उतार दी है


किसी ने पहन रखी है

पैंट की जगह जेब

तो कोई पहने घूम रहा है

बूट और बटुआ

कहीं कुछ लोग तो पहने घूम रहें है

पूरा का पूरा बाजार


लग रहा है जैसे

पूरी दुनिया घूम रही है

पहने पेट अपना- अपना


इधर कुछ लोग शरीर उतार रहें है

पर रोटियाँ पहन रहें है

लड़के पहन रहे है लड़कियां

और बेचारे बूढ़े गालियां पहन रहें है

लोगों ने अपनी-अपनी सुबह उतार दी है

और एक-दूसरे की रात पहन ली है


इस नंगी हो रही दुनिया में

कुछ भी कहना अब मुश्किल है

अब तो बस यहाँ रहना भी मुश्किल है


Rate this content
Log in