Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!
Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!

Ratna Pandey

Others


5.0  

Ratna Pandey

Others


कच्चे मकान वाले

कच्चे मकान वाले

1 min 459 1 min 459

ऊँची इमारत वालों कच्चे

मकानों को यूं ना देखो

देखकर कच्चे मकानों की

ख़स्ता हालत

तुम यूं मुंह ना फेरो

ना भूलो इन कच्चे मकान

के बाशिंदों ने

जब अपना स्वेद बहाया है

तब जाकर इन ऊँची इमारतों में

तुम्हारा परिवार बस पाया है


इनकी मेहनत और शरीर

तोड़ मजदूरी से ही

ऐसे सपने पूरे होते हैं

वरना तुम्हारे पास तो सिर्फ़

कागज़ पर बने नक्शे ही होते हैं


तुम्हारी क्या हस्ती

ऊँची इमारत को हक़ीकत में

खड़ा कर पाने की

ईंट पत्थर सर पर उठाने की

वातानुकूलित कमरों में बैठ

नक्शा बनाना

और उसे असली इमारत में

ढाल खड़ा कर पाना

बहुत फर्क होता है


यदि यह कच्चे मकान वाले

ना होते

तो तुम भी शायद ऐसे ही

किसी कच्चे

मकान में रह रहे होते

और ऊँची इमारत के सपने

बुन रहे होते

कैसे इन सपनों को साकार करें

इसी उधेड़ बुन में खोये रहते


दुनिया में जिसके पास तेज़

दिमाग है

शायद उतनी मेहनत करने

की क्षमता नहीं

और जिसके शरीर में भरपूर

मेहनत है

शायद इतना तेज़ दिमाग नहीं

और इसीलिए जब यह दोनों

आपस में मिलते हैं

तभी ताजमहल जैसे अजूबे

दुनिया में बनते हैं



Rate this content
Log in