Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

Akansha Tiwari

Others


2  

Akansha Tiwari

Others


है नहीं ये मजबूरी उसकी

है नहीं ये मजबूरी उसकी

1 min 224 1 min 224

वो लड़की है या कागज़ की गुड़िया

जब जी चाहा तोड़ दिया फिर जब जी चाहा जोड़ लिया


गर वो साथ निभाती है तो ये है नहीं मजबूरी उसकी

गर वो कदम बढ़ाती है तो ये है नहीं मजबूरी उसकी


हर कदम उसका विश्वास है हर साथ उसके जज्बात है

हर कदम भरोसा करती है तब हर कदम साथ वो चलती है


हर अहसास को सच वो समझती है तभी खुद को

न्योछावर वो करती है

एक मासूम कली सी होती है हर चोट सहन वो करती है


फिर भी साथ वो चलती क्योंकि बहुत भरोसा करती है

हर सच को वो झुठलाती है हर झूठ को सच समझती है


पर है नहीं ये मजबूरी उसकी बस वो बहुत भरोसा करती है

ग़लती है उसको कमजोर समझना ग़लती है उसको मजबूर समझना


सब कुछ वो समझती है हर बात को वो परखती है

फिर भी साथ वो चलती है


हर कठिनाई को सहती है पर तुमको खुश वो रखती है

हर अपने से सच वो छुपाती है पर तुमको सब कुछ बताती है


जब वो भरोसा करती है तो दिल से साथ निभाती है

बस धोखे से घबराती है बाकी सब सहन वो कर जाती है


है नहीं ये मजबूरी उसकी बस तुम पर भरोसा करती है

है नहीं ये मजबूरी उसकी बस प्यार बहुत वो करती है !!



Rate this content
Log in