Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!
Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!

Brajendranath Mishra

Others


3  

Brajendranath Mishra

Others


आओ बनाये हम अपना घर

आओ बनाये हम अपना घर

1 min 159 1 min 159


ये मेरा घर, ये तेरा घर,

आओ बनाएं इसे हमारा घर।


चलो ले कर चाभी खोले घर अपना

आओ बच्चे साकार करें एक सपना।


तेरी किलकारियाँ गूंजेंगी घर अंगना,

खनकेगा सजनी के हाथों का कंगना।


छत की मुंडेर पर, धूप उतरेगी

छलकेगा कलश, गैया रंभायेगी।


शाम से पहले धूप अरगनी पर टँगेगी,

चाँदनी आंगन को रजत रंग रंगेगी।


छत - आंगन भींगे, बूँदे अब बरसेंगी

मन में आनंद भरे, धरा अब सरसेगी।


प्रेम से आप्लावित, सींचित कर,

आओ बनाये हम अपना घर।

आओ बनाये हम अपना घर।



Rate this content
Log in