रोहित वर्मा

Others Tragedy Classics inspirational children stories action


4.4  

रोहित वर्मा

Others Tragedy Classics inspirational children stories action


ये सच्ची बाते लेकिन थोड़ी कड़व

ये सच्ची बाते लेकिन थोड़ी कड़व

2 mins 47 2 mins 47

प्रेम को दिमाग में मत रखो कूड़े में डालो क्योंकि तुम भी कूड़े समान बन जाओगे किसी के पीछे इतना मत भागो कि आपकी मंजिल न मिले फिर आखिर में अकेले नजर आओ. किसी को इज्जत उतनी दो जब तक आपकी इज्जत को नीलाम होने से बचाता रहे.  

ये दुनिया बुरी नहीं इस दुनिया में हर आदमी की सोच अलग अलग है इसलिए कुछ बुरे और अच्छे निकल सकते है. आप हँस रहे हो कल आप पर आपकी उम्र हँसेगी ये बात याद रखना आपको कोई पसंद नहीं करता इसकी चिंता मत करो आप खुद को पसंद करते हो वहीं काफी है. 

पुराना था गया जाने दो अब कुछ नया है उसको आने दो. 

लोग न आपको पसंद करते न आपके विचारों को. यहां मोल दौलत का है आपकी शराफत आपको बीच बाजार में नंगा कर सकती है. पर आपकी चालाकी कई राजो से पर्दा खोल सकती है. 

ज्ञानियों के पास इतना ज्ञान होता है कि वह आपका ज्ञान भी खा जाए. 

जिस तरह फोन कि बैटरी सौ होने के बाद कम हो जाती है उसी प्रकार इंसान की भी शारीरिक ऊर्जा कम हो जाती है. किसी के विचारों से मत चलो क्योंकि आप गुलाम हो जाओगे उसके विचारों के. कहते है अच्छे लोगो के मुंह कम लगते है लोग और बुरे लोगों के ज्यादा मुंह लगते हैं. अपना वक्त हाथ में ले लो जैसे चलाना है वैसे चलाओ. सफल लोगो के पास रहने की बजाय असफल लोगो के पास रहना सीखो ये लोग आपको गलत मार्ग नहीं दिखाएँगे. जितना धन आपके पास सबसे ज्यादा लोग आपके पास जितना कम आपके पास उतने कम लोग आपके पास. 

जो लोग घर में रिश्ते खोजते थे आज वहीं लोग तिजोरी की चाभी खोज रहे है. दिमाग से सोचोगे तो कभी असफल नहीं होंगे दिल से सोचोगे हर वक्त खुद को असफल पाओगे. 

आपको आगे करने वाले बिना बोले आगे कर देंगे आपको पीछे करने वाले बिना बोले कर देंगे. 



Rate this content
Log in