कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : romance

मैं तो अब भी वही हूँ कशमकश भरे कदम रखते हुए, हाथों में मेघदूत read more

1     598    59    9

नादान
© Shyamm Jha

Fantasy Romance

हर बात में मेरा नाम लेना और हर बार बस यही कहना मुझे तुम से मोहब्बत नहीं सच मे तुम read more

1     14.9K    88    156

कर के अरदास तुम साथ दोनों का मांग read more

1     719    550    25

वो अंतरंग घड़ियाँ उसे याद करती हैं, ये चादर की सिलवट भी फरियाद करती read more

1     8.1K    129    276

'मैं खाने पीने का शौक़ीन, अदरक की तरह फैल गया, शरीर L से XXXL, और कमर का कमरा बन read more

1     14.7K    559    46

जरा बाँसुरी नेह राग की मुझे सुना और थोड़ी तू भी संग मुस्कुरा read more

1     1.1K    85    32

सिर्फ प्रेमिका या पत्नी से इजहार की मजबूरी क्यों परिवार के सदस्य, रिश्ते या read more

1     2.9K    409    34

आज भी कई बार, मेरे सपनो में आते हो तुम, हर बार एक नई, उम्मीद जगा देते हो read more

1     6.9K    72    486

दो हृदय एक ही डोर जुड़े तन, प्राण एक बन जाए क्यों कहने को तो, एक बंधन ये मन read more

1     1.7K    51    39

कभी कभी तो बस आप अपनी, ही रक़ीब होती है ये read more

1     453    63    62

कोई जगह कोई दहर हो जहाँ वक़्त न पंहुचा हो अभी भी बेवक़्त पहुँचेंगे वहाँ और बैठे read more

1     21.1K    28    633

मेरा वक्त नहीं कोई कटता उसके read more

1     900    50    65

फिर किसी मोड़ पर मिलने की आस लगाए बैठा है क्योंकि दिल तो बच्चा फिर भी read more

2     623    66    72

उन्स
© Saket Shubham

Fantasy Romance

गिला तुझसे भी अब क्या करूँ जब इश्क़ तुझे हुआ read more

1     7.9K    62    729

तेरे गाँव को जाती सड़क है न वहीं कहीं वो आखिरी मुलाकात read more

2     300    47    97

समझ नहीं पा रही मेरा आँचल छोटा है या तुम्हारे एहसान बड़े क्यूँ समेट नहीं read more

1     265    46    113

मेरी हर नादानी को माफकर बस मेरे पास ही रह read more

1     294    43    127

मेरी कविता तुम से ही बनती मेरी और मेरी कविता की शान हो read more

1     249    55    134

यह कविता प्यार का इज़हार read more

1     14.1K    65    150

पांव ना टिके धरती पर और वो बस उड़ती रहे हवाओं में read more

1     372    53    152

हिरनों जैसे वन-वन भटके लौट फिर बेबस अपनी ही कस्तूरी खोजें शायद प्यार यही read more

1     469    50    162

छूटा वक्त फिर से न रुबरु हो जाए, दराजों में सहेजें लम्हें न बिखर न read more

1     186    51    1046

ये एक तरफा इश्क़.. उस इज़हार की तरह है .. जिसे वो अठखेली समझ read more

1     625    42    164

हो जाती है पूर्ण तुम्हीं से, काव्य-कामिनी read more

1     315    41    174

मन का हिरण कुलाँचे भरता जा रहा read more

1     410    49    186

जो धड़कन में, सांसों में रगों में एकसार read more

1     459    16    190

पति को अपना सर्वस्व देनेवाली पत्नी... उसकी भावविभोर और अपने प्रियतम के प्यार का read more

2     144    29    201

हे सखी, तू प्रेम मूर्ति, बन उनके जीवन की पूर्ति, तू उनकी आलिंगन है, तू ही उनकी साजन read more

1     224    22    203

अब डर नहीं लगता, किसी के दूर जाने का, अब दिल नहीं करता, किसी से जुड़ जाने read more

3     14.0K    89    100

कोई फिर से प्यार के वही लम्हें जीना चाहता read more

2     13.7K    60    205