Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

परिवार

परिवार

1 min 143 1 min 143

मैं ही परिवार हूँ अपना मान लो ,

नुकसान ही इसमें क्या है

जाता भी क्या है, यहाँ फर्ज को निभानें में !


मैं मेरा परिवार , परिवार ही है जब हम

आगाह करते रहेंगे तुझे

दुनिया जब तक दम में होगा दम !


मत तोड़ प्यार परिवार का कभी..

नेह छोड़ पछतायेगा..

मोल तेरी मिट्टी की होगी,

ता- उम्र ही आँसू बहायेगा..!


Rate this content
Log in