Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!
Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!

Kumar Vikash

Others


3.5  

Kumar Vikash

Others


जीवन की चाह

जीवन की चाह

1 min 106 1 min 106

इस कोरोना काल ने

बुद्धि को अजीब कशमकश में डाल दिया है , 

समझ ही नहीं आ रहा की

इन्सान के लिये पैसा जरूरी है या जीवन ।। 


एक बात तो स्पष्ट है की

इन्सान के लिये जीवन जरूरी है ,

और जीवन की चाह बिन पैसों के अधूरी है ।। 


Rate this content
Log in