कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : children

मम्मी-पापा ने पकड़ी थी मेरी उंगली जब मैं था छोटा, वे मुझे शांत कराते, अक्सर मैं जब read more

1     8.4K    90    195

घर बनाये झोले ले जाते थे जहाँ वो चारदीवारी ढूंढ रहा read more

1     252    38    449

सच में कभी-कभी तो कंधे तक छील जाते हैं, होता कभी दर्द इतना ये नन्हे सह नहीं पाते read more

1     7.9K    82    726

हो जाती है ईर्ष्या कभी कभी दोस्तों के संग फिर भी बाँटते हैं भोजन दोस्तों के read more

1     509    74    728

गुल्लकें
© Sandeep Gupta

Children Inspirational

ख़ुद टूट कर भी, दिलों को जोड़ने का, जिगर रखती हैं read more

1     1.6K    29    752

सुना है बड़ी हुई वो लड़की दिल की अपने अब वो सुना नहीं read more

1     369    11    1027

दूसरों के काम जब आओगी तुम तो चाँद जैसा read more

1     7.1K    47    1053

गिर जाते हैं मिट्टी में दाने, सूखे फल जो जमा कर रखे थे गिलहरी ने आने वाले समय के read more

1     90    3    1071

उड़ान भरने दो उन्हें, ये खुला आसमान देख लेने दो read more

1     197    53    1185

उस दिन मैंने किताब खोली ही नहीं जिस दिन उन्होंने कहा कि किताब पढ़ना अच्छी बात read more

1     399    8    1238

मेरा बचपन, मेरे सपनों में ही रह read more

2     14.6K    17    1477

अच्छे भले थे हम उस बचपन के ज़माने read more

1     397    53    1642

हमको कहती हम बच्चे हैं अभी अकल से हम कच्चे हैं समझ नहीं है हममें सारी बहुत अलग यह read more

1     98    4    1679

मंजिल थोड़ी दिखने लगी,जिसके ऊपर ध्वज चढ़ा, बस बाहें बढ़ाकर थामना है,अभी खुद को read more

1     405    28    1731

पगला मन अब भी कहता है, दोस्त ने नहीं पढ़ी वो कहानी read more

2     385    15    1780

बेटी की सच्ची दोस्त मॉं ही होती है, मॉं पर लिखीत सुंदर read more

1     13.7K    19    1980

प्रकृति
© Akanksha Rao

Children Inspirational

पर्यावरण संरक्षण को लक्ष्य बना लें, ज्यादा नहीं बस थोड़ा समय तो इसे दिया ही read more

1     93    11    1993

शेर आसमान में देखने लगे, काँव-काँव करता कौवा उड़ता read more

1     13.0K    26    2047

चाहकर भी न भुला पाऊँ उन लम्हों को जिंदगी की नींव रखकर खुद डूब गए उन बचपन के read more

1     7.8K    26    2178

अरे, नारी के सम्मान की खातिर राजनीति का त्याग करो नेता से पहले बाप बनो फिर अपनी read more

2     11.6K    7    2234

माँ
© Ramandeep Kaur

Children Inspirational

सबसे कठिन तो तब लगता है, जब कोई नहीं समझ पाया ये, कि कैसे माँ ने पूरी की है, हर read more

1     145    5    2236

कसम खाओ न फेकोगे कुड़ा तुम तो नदियों में, बसाओगे इन्हे दिल में बसे अब जान नदियों read more

1     391    25    2272

दोस्त खेलते हैं शतरंज, अब यह क्रिकेट नहीं उनको read more

1     394    47    2355

नरम धूप , उतर आती है, छत पर, आंगन में , फैल जाता है, पुखराजी प्रकाश। हवाएं ठुमक read more

1     465    45    2430

ये सपनों का ‘प्रयास’ है read more

1     13.4K    10    2456

हर रोज स्याह होती जा रही, व्यथाओं की तस्वीर read more

2     14.0K    10    2457

मेरे माँ बाबा बहुत न्यारे मुझको लगते हैं बहुत प्यारे नई फ़्रॉक लाएँगे स्कूल में read more

1     266    14    2524

ऐसा है यह अंतरिक्ष जहाँ हम रहते हैं, इसे गर्व से हम मिल्की व गैलेक्सी कहते read more

1     144    7    2548

है ज्ञान कि देवी ,है माँ शारदे । भावों को मेरे ऐसे बद्वं दे बजा वीणा , कर झंकृत read more

1     116    5    2559

छल-कपट से दूर थी दुनिया, सम्भोदन और क्रन्दन शक्ति read more

1     126    25    2672