Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Meenakshi Kilawat

Others

4.3  

Meenakshi Kilawat

Others

बादल पानी

बादल पानी

1 min
767


मेरी कविता खुशनुमा महल

घूमती है डगर दर डगर

शबनमी रंगो की ओढ़े चूनर

मंडराती है ये नगर नगर।।


कविता है मेरे दिलो का स्पंदन

मदमस्त सपनों का है दर्पण

चाँद सितारों का मिलन

सुबह के सूरज की तपन।।


कविता सागर की लहरों में

प्रेम भरे इजहारों में

नये नये शब्दों के जालों में

ये आसमानी सितारों में।।

 

कविता होती है जलजला

होती है हौसलों भरा तूफान

बुलंद इरादो का ताजमहल  

देश की गाथा का है यह गुणगान।।


कविता बादलो की झुरमुट में

बरसती बरसाती बूंदों में

छोटी बातो में हँसी में रुलाई में

कोयल की चहक भरी बोली में।।


कविता मेरी हरी भरी हरीयाली में

बागिया की खुशबू बहारों में

सृजन और संवेदना में

दु:ख दर्द सच और झूठ में।।


Rate this content
Log in