Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Gautam Govind

Poet


चुभ रहें हैं आज भी भाग-1

Tragedy

अपनों ने दिए जख्म खामोश हूँ, देख के फितरत उनकी,

1    224 24

तेरे बिना...

Romance

पर तू देख मैं जी रहा हूँ तुझ से किये उन वादों को याद करके

2    195 37