Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Prateek Tiwari (तलाश)   Author of the Year 2018 - Nominee

I first Want to be a good reader , then a writer. An Oil and Gas professional by education. A writer by love

  Literary Brigadier

परिंदे घर से निकले

Children Inspirational

ख़ूब लड़े फिर जीवन से संसार चक्र सब सीख लिया। साहस जब कमज़ोर पड़ा तो मन भीतर ही चीख़ लिया...

1    142 1

मुझे चुप ही रहना

Drama

अब मुझे कुछ भी नहीं कहना मुझे चुप ही रहना रहने दो छोड़ो मुझे चुप ही रहना।

1    149 7

नेता जी ! सुनो तो सही

Others

बीते हैं ज़माने तुम्हारी शक्ल देखे काम कोई मतलब बिला तो करो

1    115 4

हूँ मनुष्य ! क्रोध भी रखता हूँ

Action Drama Others

शांत जलधि मन को जो भाता है अतः क्रोध में प्रलय वही लाता है

1    83 4

बाज़ार

Abstract Drama Others

लिखता कुछ हूँ करता कुछ हूँ अपना भी ये व्यवहार हो गया

1    83 4

कामिनी

Drama Romance

मनमोहिनी वो मोह गयी, दिल को ऐसा टोह गयी, मृगनयन थी आँखें उसकी, बाट इश्क़ की जोह गयी !

1    1.1K 8

समझौता कर लेते हैं

Drama

जीने के लिए कुछ मर लेते हैं आओ समझौता कर लेते हैं।

1    35 2

जीत उसी की होती है

Action Inspirational Others

जो हार से ना कभी डरता है, और खुद को समर्पित करता है, संग उसके सफलता सोती है, हाँ जीत उसी की होती है

1    5.2K 3

अभी बाक़ी है

Action Inspirational

क़ुर्बानी तो तूने दे डाली, पर अनुषठान अभी भी बाक़ी है व्रत तो रखे नवरात्रे में, पर रमज़ान अभी भी ...

1    13.4K 10

भारतीय सेना को नमन

Inspirational Others

'है नमन उस वीर को जो इस धरा का लाल है, है संरक्षक वो हमारा और दुश्मनों का काल है।' देश के लिये क़ुर्...

1    13.3K 5

नमन हर शहीद को

Drama Inspirational

है नमन उस वीर को, जो इस धरा का लाल है...!

1    12.9K 8

सलाम सैनिक को

Action Inspirational

बापू सा अगर शांत है वो तो भगत सिंह सी आग भी है बैरी का अगर काल है वो तो भीतर से अनुराग भी है

1    6.7K 7

देश

Drama Inspirational

देश के लिए लिखी गई भावविभोर करती एक कविता...

1    14.2K 7

दे दो

Drama Others Romance

झूठे ही सही, कुछ ख़्वाब तो दे दो...

1    6.5K 4

शमशान

Drama Inspirational

ज़िन्दगी की हकीकत बयाँ करती एक कविता।

1    13.6K 10

कर्ण

Classics Drama Inspirational

महाभारत का एक दृश्य कविता के रूप में !

1    13.7K 6

कामना

Drama Inspirational

बस लक्ष्य को अपने अंकित कर ले, तू आगे बढ़ जाएगा बाधाओं का हरण तू करके, ध्वजा विजयी लहरायेगा...!

1    19.9K 6

नायाब तोहफ़ा

Drama

भूल जाऊँगा तुमको आज और अभी से बस बीते हुए लम्हों का हिसाब तो दे दो ।।

1    13.8K 6

प्रेम तुम्हारी मज़दूरी

Drama

प्रेम तुम्हारी मज़दूरी में मैं पागल - पागल खोया हूँ...!

1    14.3K 5

जीवन के पर्दे पर

Drama

शैतान से देखो डर कर सब कर मेल रहे हैं । जीवन के पर्दे पर हम तुम खेल रहे हैं ।।

1    13.7K 6

जो तुम हो जाओ हमारे

Drama Romance

मंज़िल भी कोई पास नहीं है और राह में पड़े अंगारे । अरे कूद पड़ेंगें अंगारों में जो तुम हो जाओ ह...

1    6.7K 8

ऐसा मन

Drama Others

कभी घंटी तो कभी अज़ान कभी गीता तो कभी क़ुरान ऐसा मन अध्याय मिला...!

1    13.2K 5

अहेर

Romance

कवि अपनी प्रेयसी प्रसंशा करके प्रेम प्रगट कर रहें है।

1    14.0K 5

आज मैं चाहता हूँ

Drama

आज मैं चाहता हूँ कि तुमको भुला दूँ , सँजोए सभी अरमानों को अब मैं सुला दूँ ...

1    6.9K 9

मानना मत हार तू

Drama Inspirational

बाधाएँ कितनी भी हो, पर मानना मत हार तू जगमगाना नभ पटल पर, छोड़ के संसार तू...!

1    14.1K 4

फ़ौजी

Drama Tragedy

ये सारे फ़र्ज़ निभा डाले पर तुम सबको ये न दिखा पाया ।

1    13.4K 9

जीवन काव्य

Drama Inspirational

देख जीवन काव्य को कौतूहल मन में उठा ईश्वर के इस गीत में कुछ तो अंकित मैं भी करूं।

1    6.7K 4

मज़हब या इंसान

Drama Tragedy

ईश्वर, अल्लाह, हैं दोनो हैरान था मज़हब बनाया या इंसान...?

1    6.6K 5

आज आती है याद माँ बहुत तेरी

Children Drama

आज आती है याद माँ बहुत तेरी, वो तेरी थपकी, वो तेरी लोरी ।

2    7.3K 12

अपनों सा प्यार

Drama Inspirational

भरी रहती है अब जेबें रूपयों से मेरी , पर माँ की दौलत का दुलार नहीं है । बैठता हूँ क़ीमती कारों में...

1    1.1K 3

करो लाख कोशिश

Drama Romance Tragedy

करो लाख कोशिश रुलाने की हमको मगर जब भी होंगे, आँखों में आँसू तुम्हारे उसमें ज़रूर एक क़तरा हम...

1    13.7K 8

ये जो चुनरी में दाग़ है

Drama Inspirational Tragedy

ये जो चुनरी में दाग़ है क्यूँ छुपाती फिरती हो...!

1    13.6K 4

बस एक बार

Drama Inspirational

कहता है कौन, कि बदकिस्मत हो तुम, अपने हाथों पे लकीरें, बना कर तो देखो...!

1    12.9K 5

क़लम पुनः मैं उठाता हूँ

Drama

करने को अंकित कुछ अपने निशाँ आज क़लम पुनः मैं उठाता हूँ ।

1    6.8K 10

क्या यार लिखूँ

Drama

बैठा हूँ कुछ आज मैं लिखने, सूझे ना क्या यार लिखूँ । ढेरों रंग में रंगा ये जीवन, कैसे इसका सार लिख...

1    13.3K 6

सुबकता बचपन

Children Drama

उस मासूम के सपनों की, फिर से आज धुलाई हुई...!

1    12.8K 9