Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
स्वेद
स्वेद
★★★★★

© Shambhunath Vishwakarma

Drama Inspirational

1 Minutes   13.0K    6


Content Ranking

ललाट पर जो स्वेद है,

बना रहा भविष्य है,

डटे रहो सदा अटल,

राह पर जो सिद्ध है ।


प्रचंड हैं ये आँधियाँ,

प्रखर भी सूर्य तेज है,

विश्राम के लिये यहाँ,

कन्टकों की सेज है ।


परंतु हार ना निडर,

कठिन भले ही है डगर,

बढ़ा ले अपना आत्मबल,

और नाप ले तू हर शिखर ।


वश में तेरे बस काम है,

सफलता फल का नाम है,

स्वेद को ही मिला सदा,

विजयश्री का प्रणाम है ।

Poem Hard work Human Journey

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..