कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : thriller

टाइम सीरम
© Saket Shubham

Children Stories Drama +1

पाँच सालों में उस वक़्त के मानव जीवन को उन्होंने अनेक उपकरण देकर उस वक़्त read more

4     1.5K    19    914

ज़मीन थरथरा रही है, हिल रही है – जादूगरनी पीछा कर रही है, और बिल्कुल पास आ गई है... read more

7     697    49    157

निजामपुर मे मेरे कई लोग परिचित हैं जो होटल चलाते हैं। उन लोगों को मैंने वो निशान read more

53     3.9K    58    48

कॉलेज में सभी को आगाह किया गया कि जो भी कॉलेज से बाहर जायेगा वो सिक्योरिटी को बताएगा read more

17     16.1K    47    466

उसके बाद हमने पहले सफारी मार्ग की पूरी यात्रा की, बारिश के मौसम के कारण, चारों तरफ read more

4     4.2K    517    202

कातिल का पता लगाने से जुड़ी जासूसी read more

60     2.3K    12    407

वीरपुर पुलिस स्टेशन की सारी फोर्स इन हत्याओं की मिस्ट्री को सुलझाने में उलझ जाए और read more

17     15.6K    33    701

मारिया सोमवार को अविनाश के कैबिन में आई और उसने उसे बताया कि उसको कोई ब्लैकमेल कर read more

49     1.4K    9    408

मगर ऐसा लगता है कि केस नंबर 1046 का रहस्य कभी नहीं सुलझेगा। हत्यारे आज़ाद घूमते read more

7     514    33    549

महेंद्र एक फाइनेंसर था। इसने हरीश को करीब 75 लाख, राजेश भाटिया को 60 लाख और विजय read more

48     1.3K    6    619

पर्स खोने के बाद मेट्रो स्टेशन पर राजेश की मुलाकात एक अनजान व्यक्ति से हुई। उसने read more

4     417    4    624

बसंत समझ गया था मनवीर तो नहीं बचा होगा, उसने देखा मंदिर में से एक बुजुर्ग ने उसकी read more

55     581    8    721

जैसे ही कोटेज के ऊपर के रूम की तरफ गया मैं, वहाँ का नजारा देख दंग सा रह read more

7     1.1K    29    893

रहस्य और रोमांच से भरी जासूसी read more

51     1.2K    8    722

मेरी गर्लफ्रेंड तो जा चुकी है पर उसके पर्स में अब भी शायद इतने पैसे जरुर होंगे जिससे read more

6     371    5    731

मिले तो उसकी तरह भटकते लोग जो प्यास से परेशान थे। जिनकी सांसें उखड़ रही थीं। यह सब read more

2     193    38    541

एक कहानी ऐसी read more

4     226    34    1124

बिल्ली अपनी आँखों के आंसू उँगली की पोर पर लेकर दूर छिटकते हुए read more

5     397    7    1234

आंटी ने मुझे मृत्यु के एक दिन पहले का फोटो दिखाया दादी ने वही कपड़े पहने थे जिन read more

3     321    43    828

उनके साथियों को गिरफ्तार कर लिया और जग्गा और उसके असिस्टेंट सीमा और सुभाषका read more

4     135    4    1088

एक अंतिम सवाल उस लड़की से पूछा, "कैसे हुयी थी तुम्हारी मौत?" ये सवाल सुनकर उस लड़की read more

2     95    1    1093

लेखक - बरीस झित्कोव अनुवाद – आ. चारुमति read more

5     493    47    1099

मुझमें जितनी भी शक्ति व साहस था... सब मैने एक लम्बी साँस भर कर झोक कर... उस जकड़न, read more

2     251    28    783

लेकिन एक दिन ऐसा तूफान आया कि सब कुछ उजड़ गया। अचानक एन. डी. ए. पूने से फोन आया कि, read more

7     416    55    33

" हां सर, चलिए।" रमन ने कहा। और सब वहां से चले जाते read more

4     268    49    1134

ब्लैकमेल, हत्या, गिरोह आदि से परिपूर्ण रोचक और मनोरंजक कथा जो आपको अंत तक पढ़ने पर read more

49     1.2K    14    1385

यह कहानी मेरी पहली पुस्तक "दया और दान" से है जो कि एमाज़ॉन किंडल पर उपलब्ध है। यह एक read more

15     318    13    1213

लेखक: सिर्गेइ नोसव। .. अनुवाद: आ. चारुमति read more

27     887    44    1450

लेखक : राजगुरू दत्तात्रेय आगरकर अनुवाद : आ. चारुमति read more

6     208    2    1632

उसकी नश्वर देह नीचे फर्श पर छिन्न भिन्न अवस्था में पड़ी हुई read more

19     570    30    1553