Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.
Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.

Ranjeet Jha

Children Stories


2  

Ranjeet Jha

Children Stories


नींद पहले माँ के आँख में आती

नींद पहले माँ के आँख में आती

1 min 187 1 min 187

शाम को सात बजे मैं दिखाने के लिए बैठ जाता, कि पढ़ रहा हूँI सामने किताब खुली होती पर मन इधर उधर डोलते रहता, नज़र घड़ी पर होतीI कब एक घंटा पूरा हो और मैं उठूI आँगन में बिछी चटाई पर बबली पिंकी सब खेलते रहतेI किसी अंजान को आते-जाते देखकर मोती दरवाजे पर बैठा भौंकता रहताI उसके सुर में सुर मिलाता हमारा तोता "कौन है? कौन है?" ठीक आठ बजे माँ खाने के लिए बुला लेती और हम बैठ जातेI खाते-खाते बतकुचन चलते बीच-बीच में हम रोटी का एकाध टुकड़ा मोती के तरफ भी सरका देतेI खाके हम फिर खेलने बैठ जातेI सबके खाने के बाद माँ खाना खाती, बर्तन धोतीI फिर हम बुला लेते कहानी सुनाओI वो कहानी शुरू करती-"एक था राजा... " हम हूँ हाँ करते रहतेI धीरे धीरे माँ की आवाज़ कम होने लग जातीI आँखें बंद हो जाती हम गुटुर गुटुर देखते रहते, और वो सो जातीI नींद सबसे पहले माँ के आँख में आतीI


Rate this content
Log in