Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

Shyam Kunvar Bharti

Others


3  

Shyam Kunvar Bharti

Others


पोखरण उसका निशान

पोखरण उसका निशान

1 min 201 1 min 201

रोता छोड़ गया सबको जिंदा उसकी कहानी है

धमाका पोखरण उसकी चर्चा हर हिन्द जुबानी है।


जिंदा रह बन जिंदा दिल खौफ था दुशमनों का

अजर अमर कृति उसकी हर दिल हिन्दुस्तानी है।

सड़क सुरक्षा सम्मान समाज नदी जोड़ बेजोड़ रहा

योजना परियोजना गिनती नहीं भूलना नादानी है।


थे अटल के अटल निश्चय कभी टलता नहीं था

विहार किया कविताओं में ओज जैसे मर्दानी है।

दिया दशा दिसा जोस पहुंचाया भारत ऊंचाई

दिया पटखनी पलटन दुशमन कारगिल नहीं भुलानी है।


हार नहीं माना रार नहीं ठाना दुश्मन न पीठ दिखाना

मुंह की खा भागा कायर छलिया पाकिस्तानी है।


रडार सेटेलाइट फेल हुआ फटी आंखे अमेरिका

हुआ धमाका परमाणु पोखरण उसकी निशानी है।

श्रद्धा सुमन श्रद्धांजलि अटल तुम दिल पटल रहो

झर झर बहते नैनों आँसू मत समझो ये पानी है।


Rate this content
Log in