Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

Shyam Kunvar Bharti

Others


3  

Shyam Kunvar Bharti

Others


हिन्दी गीत - जन्म लिए कन्हाई |

हिन्दी गीत - जन्म लिए कन्हाई |

1 min 289 1 min 289

रही काली काली रात अंधियारी

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई

उमड़ घुमड़ खूब बादल गरजे

चमक चमक चम बिजली चमके

आए गोद कान्हा देवकी माई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


करने कंस कसाई मामा मर्दन

आठवीं पुत्र दिये बासुदेव दर्सन

काली रात घनेरी बढ़ी आई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


बचाने कोप कंस अपने ललना

चले बासुदेव रख माथे पलना

जल यमुना गले बढ़ आई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


बन छतरी नाग बालक बरखा बचावे

कान्हा छुई चरण यमुना जल घटावे

छोड़ लाल अपना यसोदा कन्या उठाई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


होत भोर बाजे नन्द घर बजना

जन्म लिए श्याम सुंदर ललना

नाचे ग्वाल बाल गोकुला गाई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


पापी मामा कंस दुराचारी मारा

भय भूख दुख सब जन तारा

संग राधा गोपियाँ रास रचाई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


रचा महाभारत ले धनुधारी बीरा

किया नास पापी अधर्मी धरी धीरा

धर्म अधर्म पांडव कौरव हुई लड़ाई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


माथे मोर मुकुट मुख मुरली साजे

अंग पीतांबर नित्य मनमोहिनी बाजे

हरो हर पीड़ा किशन कन्हाई

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


खिले बृंदावन हर कली कली

छाए बहार तेरी नजर जिधर चली

करो कृपा हे श्री बाँके बिहारी

जेलखाना जब जन्म लिए कन्हाई।


Rate this content
Log in