Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Jayesh Mestry

  Literary Colonel

गरीब

Others

दौलत, शोहरत हमारा हाथ चूमेगी पैसो का हम महल बनाएंगे, देखते जाओ

1    183 0

इस जहान के परे

Abstract

ये जानते हुए कि वज्र का प्रहार निश्चित है।

1    192 0

कागज़

Romance

क्या उनको भी याद आती होगी? भीगी रातों की वो शर्मीली ग़ज़ल?

1    3 0

इन्सान होना

Others

चाहे कितनी भी कोशिश कर ले मगर तेरे बस में नहीं है भगवान होना

1    175 0

तू ख्वाब हैं या वहम

Romance

नाजुक अंग हो, तितलियों की तरह। चाल ऐसी हो, झरने की तरह।

1    309 0

आखिरी सलाम...

Inspirational

हमारे लिये मातम ना मनाना ऐ दोस्तों हम से जो भी हुआ वो हम कर चले

1    22 0

पाऊस

Others

पाऊस दलितासारखा देवळाबाहेर आक्रंदून कोसळणारा...

1    1 0

गाव सारा उजळून गेला

Classics

रामाच्या पारी वासुदेव आला गाव सारा उजळून गेला वासुदेव आला हो वासुदेव आला

1    215 0

भाकरीचा चंद्र...

Tragedy

आभाळाच्या थाळीत भाकरीचा चंद्र पुन्हा उपाशी राहिला कष्टाळुंचा इंद्र.

1    228 0

वंदे मातरम

Others

चला गाऊया वंदे मातरम. सारे गाऊया वंदे मातरम. वंदे मातरम वंदे मातरम वंदे मातरम वंदे मातरम.

1    23 0