Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



राघवेन्द्र ‛राज’

कुछ अनकहे अल्फ़ाज़ और अनसुलझे खयाल

  Literary Captain

जब दर्द हद से बढ़ जाता है

Drama

जब दर्द हद से बढ़ जाता है दिल पत्थर हो जाता है।

1    105 0

हाथ मेरा तुम थामना

Romance

मिटाकर नफरतों को दिल से, तिश्नगी मोहब्बत की मिटा देना।

1    339 43

दीप जलाओ दीप जलाओ

Drama Inspirational

स्वार्थ लोभ को छोड़कर, चाहत के रंग घोलकर, उम्मीदों को पंख लगाकर, दीप जलाओ दीप जलाओ।

1    7.4K 6

तुझ से प्यार है कितना

Romance

खुद को खो दिया तुझमे इतना कि हर गम मुझ पर टूट पड़ता है। तन्हाई का आलम है इतना.....

1    1.2K 7

प्यार जताने से क्या फायदा

Romance

जब महसूस न हो मोहब्बत तो दिल लगाने से क्या फायदा, बात हमारी जो सुनने को तैयार नहीं , बात उनको फिर बत...

1    6.7K 5

दिन ढल जाए, रात सुहानी आये

Romance

बंजर दिल की जमीं पर फूलों का एक बाग लगाया जाए। जिन चिरागों को रौशन करु मैं उन चिरागों को बुझाने से ब...

1    13.6K 6

मैं उनसे मोहब्बत करने चला हूँ

Romance

इस दुनिया में बहुत शोर बहुत फ़रेब है लेकिन मैं फिर भी इस ज़माने में हर किसी से मिलने चला हूँ ....

1    6.8K 7

वो तन्हा हमसफ़र

Romance

जिंदगी का फ़लसफ़ा तुम्ही से, तुम्ही से मेरा जहां।

1    1.4K 11