Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Saurabh Sood   AUTHOR OF THE YEAR 2018 - NOMINEE

A Corporate professional, passionate for Urdu poetry...

  Literary Brigadier

बेवफ़ा नाम ही सही

Tragedy

प्यार के दर्द की कविता।

1    7.5K 19

दिल बुरा भी क्यों हो

Drama Fantasy

ग़र नहीं भला, तो दिल बुरा भी क्यों हो, वो ग़ैर सही, मेरी बात से ख़फ़ा भी क्यों हो...!

1    13.0K 22

पड़ा रहता मैं मदफ़न में

Tragedy

जबकि तमाम जिस्म ही मेरा जल चुका नाक़िद क्या ढूंढते हो दाग़, अब मेरे पैराहन में

1    6.7K 24

आलम-ए-परवाज़ होता

Drama Romance Tragedy

बेमौत मरते हैं हर शब तेरी चाह में हम, क़ाश कि नई हयात का भी कभी आग़ाज़ होता...

1    13.6K 22

न नज़र ख़ूँ-चकां होती

Drama Fantasy

तेरे ग़म का ही था, मुझको सहारा अब तक, ग़म-ए-यार न होता, तो ज़िन्दग़ी कहाँ होती...!

1    13.8K 13

तल्ख़-नवाई है आज़कल

Tragedy

इक कविता तन्हाई पर।

1    7.1K 14

ख्वाहिश-ए-परवाज़ नहीं

Tragedy

लौट आते हैं नाले दर-ओ-दीवार से शबिस्ताँ की टकरा के वो सदा हो गया हूँ अब मैं, जिसका हमनवाज़ नहीं

1    6.9K 17

मेरा साया है साथ मेरे

Drama Fantasy

सबब ढूँढे फिरती है, क़यामत का चारसू, अश्क़ नहीं देखती, तेरी क़ायनात ये मेरे...!

1    13.7K 23

खाक़ ही में निहाँ हुआ

Drama Fantasy

मशहूर है सनम तेरा सितम, बस्ती-ए-चाहत में, पर तेरा ये सितम, कि सितम भी, मुझपर कहाँ हुआ...!

2    13.6K 17

बातें बनाने में हम

Drama Fantasy Romance

मसरूफ़ हैं इक गुलिस्तां, प्यार का बनाने में हम...!

1    13.9K 15

और पा के मैं खोया किया

Drama

रुक-रुक के बहा वो एक अश्क़ तेरी याद में और, बह के तारूह मुझे फिर वो सरापा भिगोया किया...

1    13.8K 28

आये न ख़याल तुझको पाने का

Drama

ज़िन्दग़ी को कहाँ, मैं पहचानता था हनोज़, ज़िन्दगी नाम है तेरी, आँखों में खो जाने का...!

1    13.7K 22

ये ज़िन्दग़ी अपनी

Drama Fantasy

मयस्सर है साग़र, पर प्यास न बुझने दें, वल्लाह ! ये हसरत-ए-तिश्नग़ी अपनी...!

1    13.5K 14

इश्क़ की निशानी देखकर

Tragedy

नंग-ए-वजूद को छुपाने की करते हैं दवा हम रौज़न-ए-पैराहन की फ़रावानी देखकर

1    7.3K 31

न वो बयाँ हुआ

Drama

अजब रहीं नादानियाँ, इस दिल की भी मेरे, न जज़्ब-ए-दर्द हुआ मुझसे, न वो बयाँ हुआ...

1    13.1K 9

वुसअत-ए-क़ायनात देखा किए

Drama Fantasy

हम ताउम्र राह-ए-जवाब-ए-फ़रियाद, देखा किए...!

1    13.7K 18

शर्मिन्दग़ी कहाँ है

Tragedy

ऐ दिल तेरा जामा-ए-काग़ज़ी कहाँ है नज़र आता नहीं दैर-ओ-क़लीसे में मैं

1    7.3K 12

अश्क़ बहाते देखा है

Drama

सितमग़र को आज अश्क़ बहाते देखा है, इक क़फ़स नज़रों को बनाते देखा है...

1    14.2K 32

दिखता नहीं असर

Drama

पैग़ाम-ए-तर्क़-ए-उल्फ़त, देते हैं हर मुलाक़ात में।

1    13.8K 24

सहरा है या समंदर है

Romance

कहाँ मिलती है हर एक को क़ामिल मोहब्बत हर क़तरा-ए-दरया की, कहाँ तक़दीर गुहर है

1    6.9K 19

जाने ख़ुदा क्या देखते हैं

Drama

क्या उनसे हो दिल्लगी, क्या मोहब्बत हो उनसे, तिजारत-ए-इश्क़ में जो, पहले ही नफ़ा देखते हैं

1    14.1K 20

नया कोई ख़्वाब

Drama Fantasy

नया कोई ख़्वाब देखने की आँखों को ताक़त कहाँ, पुराने कितने ख़्वाबों का जनाज़ा पलकें उठाये हैं...

1    13.7K 20

किस राह जाएँ हम

Drama

बेहतर है उन रिश्तों को, अब भूल ही जाएँ हम...

1    13.4K 27

ख़ुदा

Drama Inspirational

कोई अपनी रूह में, झाँककर तो देखे, मुजस्सिम वहीं, नज़र आता है खुदा।

1    13.8K 24

ज़ौक़-ए-सफर

Drama

इस क़दर बदनाम है तू ऐ "शौक़" जहाँ में, तेरे कूचा-ओ-बज़्म से हर नेक को हजर है.

1    6.9K 21

ग़ुरबत

Drama

शुक्र है ख़ुदाया, वफ़ा, ग़म, अश्क़, ख्वाबों का नहीं, ज़िन्दग़ी का तो अपनी कोई ख़रीददार आया...!

1    13.1K 19

जीत की राह !

Drama Inspirational

अकेला है हर वो दिल जो सबसे आगे चलता है, इस दुनिया में ज़िंदा हर अच्छाई अकेली है।।

1    14.1K 26