Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Rohit Verma

Others

5.0  

Rohit Verma

Others

न मैं अमीर हूँ न ही मैं ग़रीब हूँ

न मैं अमीर हूँ न ही मैं ग़रीब हूँ

1 min
418


न मैं अमीर हूँ न ही मैं ग़रीब हूँ,

मैं एक आम इंसान हूँ,

मैं साधारण जीवन जीता हूँ,

दो वक्त की रोटी के लिए

बाहर निकलता हूँ,


न मैं अमीर हूँ न ही मैं ग़रीब हूँ,

छोटी-छोटी ख़ुशियों में

बड़ी -बड़ी ख़ुशियाँ ढूँढ लेता हूँ,

दूसरों की खुशी में अपनी ख़ुशियाँ

ढूँढ लेता हूँ,

इसलिए मैं लिखने का शौक

रखता हूँ



Rate this content
Log in