Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
दीवानापन
दीवानापन
★★★★★

© Raman Sharma

Others

1 Minutes   1.3K    7


Content Ranking

मोहब्बत की है तुमसे कोई गुनाह नहीं,

दिल में बसाया है तुझको सबूत की जरूरत नहीं I

यही है कहानी मेरी, नहीं पता तो जान ले, 

देखता रहता हूँ तुझे मजबूरी है मेरी, मान ले I 

तुमसे ही बातें करता हूँ, घेर लेती है जब तन्हाई,

तेरी यादों से भरी रहती है हर शामें मेरी I

आँखें बंद करता हूँ, तू ही तू दिखाई देती,

किताबें जब भी खोलता हूँ नजर आता है तेरा चेहरा I

अब तू ही बता दे प्रिय, करु भी, तो क्या करुं ?

मजबूर से हालात हैं मजबूर हूँ मैं भी !

दिल है बेताब मेरा, अब पागल हूँ मैं भी !

दीवाना हूँ मैं तेरा, सोचकर हैरान हूँ मैं भी !

कितना प्यार करता हूँ तुझे , जानकर भी अनजान है तू ?

नहीं जिया जाता बिना तुम्हारे, जिन्दगी बितानी है साथ तुम्हारे I

जी भर के बातें है करनी , ढेर सारी संग तुम्हारे ।

raman sharma

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..