मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

Others


1  

मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

Others


समाचार

समाचार

2 mins 3.6K 2 mins 3.6K


आगरा | साहित्य जगत की बहुचर्चित संस्था बृजलोक साहित्य कला संस्कृति अकादमी के सौजन्य से एक डिजिटल साहित्य साधना कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें निम्न महानुभावों को सम्मानित किया गया है -


डॉ. विश्रांत वसिष्ठ (दिल्ली), डॉ. अशोक कुमार आर्य (अमरोहा-उ. प्र.), डॉ. प्रेम स्वरूप त्रिपाठी (कानपुर-उ. प्र.), राजशेखर भट्ट (देहरादून - उ. ख.), डॉ. सुकेशिनी दीक्षित (आगरा-उ. प्र.), संजीव कुमार गंगवार (नई दिल्ली), डॉ. रचना निगम (वडोदरा-गुजरात), समीर ललित चन्द्र उपाध्याय (सुरेन्द्र नगर - गुजरात), सी. एल. दीवान (रीवा - म. प्र.), जे. के. संघवी (थाने - महाराष्ट्र), राजेन्द्र स्वामी (छिन्दवाड़ा-म. प्र.), राधेश्याम (लखनऊ - उ. प्र.), विशाल शुक्ल (छिंदवाडा -म. प्र.), डॉ. सतीशचन्द्र शर्मा सुंधाशु (बदायूं - उ. प्र.), एस.बी. सागर (अयोध्या -उ. प्र.), राहुल कुमार (गोरखपुर -उ. प्र.), ओमप्रकाश गुप्ता (मेरठ-उ. प्र.), डॉ. देवीदीन अविनाशी (हमीरपुर - उ. प्र.), डॉ.पुष्पांजलि अग्रवाल (हरिद्वार -उ. ख.), हरिमोहन मोहन (नैनीताल -उ. ख.), कीर्ति श्रीवास्तव (भोपाल-म. प्र.), नन्दलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर (गोरखपुर -उ. प्र.), दिलीप चन्द्र सुखदेव घोड़ेस्वार (भूसावल -महाराष्ट्र), शशि शेखर (पटना-बिहार), गुमान सिंह साहू (बालोद-छ. ग.), कन्हैया लाल बारले (बालोद-छ. ग.), जनकवि देव नारायण नगरिहा (बालोद-छ. ग.), प्रवीन कुमार ठाकुर (राजनांदगांव -छ. ग.), श्रीमती हर्षा देवांगन बालोद -छ. ग.), रजनी शर्मा (रायपुर -छ. ग.), डॉ. बृजेन्द्र नारायण द्विवेदी शैलेश (वाराणसी -उ. प्र.), विजय कुमार नामदेव बेशर्म (नरसिंहपुर - म. प्र.), पोषराज मेहरा अकेला (नरसिंहपुर -म. प्र.), श्रीमती नमिता सिंह जाट (नरसिंहपुर-म. प्र.), डॉ. रमेश कुमार शामराव नांगरे (कोल्हापुर - महाराष्ट्र), डॉ. सुनील कुमार सारस्वत (सीतापुर-उ. प्र.), मुनीश कुमार वर्मा (बोकारो - झारखंड), माधुरी घोष (वडोदरा - गुजरात), अतुल श्रीवास्तव (नई दिल्ली) आदि |


ज्ञात हो बृजलोक अकादमी का यह प्रथम डिजिटल कार्यक्रम है, क्योंकि इस समय सम्पूर्ण राष्ट्र में कोरोना महामारी की वजह से लॉक डाउन लगा हुआ है | संस्था अध्यक्ष मुकेश कुमार ऋषि वर्मा ने बताया कि जैसे ही लॉकडाउन खत्म होगा सम्मान पत्र सभी प्रतिभागियों को उनके पते पर पोस्ट कर दिये जायेंगे |


Rate this content
Log in