कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : crime

गीतिका उठी और विजय के लिये पानी लेने फ्रिज की तरफ बढ़ read more

48     674    1    38

कोई व्यक्ति इतना स्वार्थी कैसे हो सकता है ? क्या उन्होंने सचमुच इतना हिसाब - किताब read more

9     29.1K    264    204

अचानक उस रात की एक घटना मेरे जेहन में घूमने लगी। शादी के बाद, जब मैं सोने जा रही थी, read more

4     2.4K    47    223

मैं संतोष कर ना लूँगी की मेरा मरना व्यर्थ नहीं गया। ओह्ह जिंदा जलने की वेदना कल्पना read more

6     1.4K    51    402

मैं जरूर एकदिन उस विक्रम के खिलाफ शिकायत read more

3     135    0    451

लेकर पुलिस स्टेशन की ओर चली अपने शिक्षक होने का उत्तरदायित्व read more

6     151    2    520

अभी कुछ वक़्त पहले तक लगभग अजेय समझी जाने वाली पार्टी केवल २ महीने में ही अस्तित्व read more

40     140    2    521

कॉलेज में सभी को आगाह किया गया कि जो भी कॉलेज से बाहर जायेगा वो सिक्योरिटी को बताएगा read more

17     18.4K    50    547

नैना टेक्सी का इंतजार कर रही थी। उसके बाजू में जो महिला खड़ी थी ऐसिड अटैक उस पर था read more

6     782    24    563

"कोई विदेशी खाता नहीं है मेरा, जो मैंने तुम्हें दिया वही था मेरे read more

18     824    3    582

चाह कर भी कोई कुछ नहीं कर सकता, समाज में निरंतर बढ़ रहे अन्याय-अत्याचार के खिलाफ... read more

9     785    47    608

मिहिर बाज़ार से जहर लाया और तुम्हारे पापा को देने जा रहा था कि मैंने उसे साथ चलने को read more

9     823    41    617

वह दरवाजे पर पहुंचती है तो देखती है कि उसका पति खून से लथपथ दरवाजे पर बेहोश पड़ा read more

5     121    1    788

बाद में सरकारी खर्चे से उन्हें दफ़ना दिया read more

5     103    1    789

देश में स्वार्थी तत्व बहका कर दंगे भड़का रहे हैं। इससे अपने ही देश और समाज के read more

3     419    37    905

'यहाँ रह गए बच्चों में से जिसके माता -पिता या घर-बार न पता चले तो उन्हें मेरे बसेरे read more

6     477    12    1003

मार्केट के एक दुकानदार के बेटे की शादी थीI उसने कुंज बिहारी को भी बुलाया थाI शादी के read more

3     876    36    1168

बड़े जुर्म छुपाते हुए मामूली समझे जाने वाले सुराग ही अहम होते read more

59     1.9K    11    1179

लाड़की
© Noorussaba Shayan

Crime Inspirational +1

'जिसे अपने कपड़ों , किताबों का ध्यान नहीं होता था वो अब मेरी दवाइयों और चाय का read more

4     7.8K    60    1291

कांस्टेबल ने एक -एक की तलाशी लेकर छोड़ना शुरू read more

5     45    1    1356

वीरपुर पुलिस स्टेशन की सारी फोर्स इन हत्याओं की मिस्ट्री को सुलझाने में उलझ जाए और read more

17     18.5K    35    1375

मी लार्ड ऐनी ने अपने मदर इन ला, फादर इन ला, राबर्ट खुद के हसबैंड को और अंकल का इतने read more

9     824    26    1457

जब तक बलात्कारियों के लिए कोई कठोर दंड का प्रावधान नहीं होगा तब तक लाखों कोमल कलियां read more

7     612    21    1470

बिल्ली अपनी आँखों के आंसू उँगली की पोर पर लेकर दूर छिटकते हुए read more

5     813    10    1501

बरसों से जिस कड़वी जबान के साथ उसका उठना-बैठना था, उसे उसदिन क्षणभर के लिए झेलना इतना read more

3     419    5    1519

एक कहानी ऐसी read more

4     863    38    1567

एक सच्ची घटना पर read more

8     14.9K    34    1622

दीदी ने आकर जो बताया सुनकर मेरे होश उड़ गयेI बाइक वापस घुमाकर घर चलने को कहते हुए read more

4     702    7    1640

इस तरह में प्रियंका के कातिल का पता लगा लिया और संजीव ने राहत की सांस read more

7     453    8    1721

एक बेनाम रिश्ते को निभाने के लिए एक गैंगस्टर को खत्म करके उसी दिली राहत read more

4     601    38    1778