Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Chandra Prabha

Children Stories

4.5  

Chandra Prabha

Children Stories

एक चाँदनी रात

एक चाँदनी रात

1 min
48


ऑंख मिचौनी करते बादल, 

चन्दा के संग खेलें बादल,

पानी लेकर आयें बादल,

झूम-झूम के जायें बादल ।


हवा चली मद भरी,

शीतलता से झुकी-झुकी,

जल कणों से भरी-भरी, 

चन्दा के संग खिली-खिली । 


रूई से उड़ते बादल घूमें,

हवा का स्पर्श सुहाना, 

मन में कैसा उन्माद जगाए,

कितना सुन्दर जीवन है ।


हम ही भूले रहते,

अपने में खोए रहते,

ये दो पल भी नहीं पाते,

काम में उलझे रहते ।


कितना हलका मन है, कितना सुखद,

 कितना शीतल स्पर्श पवन का, 

अभी तक अनजाना था, 

अवकाश ही कहाँ था ।


कभी बैठ प्रकृति को निहारा नहीं,

दिन ऐसे ही बीत गए,

यह दु:ख सुख से उपर,

अलग ही दुनिया है ।


अपने में अलबेली,

प्रकृति में सौन्दर्य है, सुषमा है,

देखने को अवकाश चाहिए,

मन खाली चाहिए ।


Rate this content
Log in