Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Asha Pandey

कहानीकार

  Literary Brigadier

मैं एक नदी

Drama

ये शक्ति है मुझमें किंतु सृष्टि चलती रहे और सभ्यताएँ फैलती रहें इसलिए मैं स्वयं ही डूबती हूँ और ...

1    7.1K 10

जब माँ थीं

Drama Tragedy

मैं, माँ की चटाई बिछाकर माँ का चश्मा लगाती हूँ और माँ की किताबों में खोजती हूँ माँँ...!

1    13.5K 7

माँ

Drama

मैं भटक-भटककर तलाशती हूँ थोड़ी धूप थोड़ी छाँव थोड़ी जमीन खड़े रहने लिए जो माँ के जाने के बाद मुझे ...

1    6.9K 8

बड़ा कौन ?

Drama

बड़ा तो आकाश है लेकिन आश्रय धरा ही देती है बड़ा तो सागर है लेकिन प्यास नदी ही बुझाती है !

1    6.9K 9

प्यास

Drama

प्यास बुझाने के लिए तो दिल की निर्झरणी से बहती हुई प्रेम-धार की एक बूंद ही काफी है |

1    7.0K 14

नियति

Drama

और जीती हूँ जीवनभर शालीनता के पिंजरे में घुट-घुट कर |

1    7.0K 10

तर्पण-भोग

Drama Tragedy

किंतु बेटे के श्राद्ध – तर्पण को हाथ नहीं लगाऊँगा !

1    7.0K 7

चिनार

Drama

सोचती हूँ खिड़की से ही सही पर क्या मैं देख पाऊँगी उस चिनार को अपनी अंतिम साँस के पहले एक बार !

1    13.5K 10

चाबी

Drama

अब प्रेम के लुट जाने के बाद बचा ही क्या है हमारे घर में जो चाबियों को रखा जाये संभाल कर...!

1    13.3K 5

कम्प्यूटर

Drama Others

इस कम्प्यूटर युग में उसके सपनों का महत्व ही क्या है !

2    13.6K 6

आखिर पीपल रोता क्यों है ?

Drama

एक ओर हरा-भरा गाँव बजती हैं जानवरों के गले की घंटियाँ चरवाहों की हँसी के साथ दूसरी ओर रिसता है पीपल ...

1    13.7K 14

दूधवाला आया है !

Children Drama

दूधवाला आया है !

1    7.0K 6

चुहिया की नानी

Children Drama

चुहिया की नानी !

1    6.8K 7

चिडिया बेचारी

Drama

बेचारी चिड़िया !

1    7.1K 13

गाजर

Children Drama

गाजर के बारे में एक कविता।

1    6.9K 10

खट्टे हरे टिकोरे

Drama

खट्टे हरे टिकोरे !

1    7.3K 6

खट्टे हरे टिकोरे

Drama

खट्टे हरे टिकोरे...।

1    6.8K 8