Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
अधिकार
अधिकार
★★★★★

© Shailesh Bhaarat

Others

1 Minutes   7.0K    6


Content Ranking

 

सैकड़ों पर भारी पड़ेंगे 
कई लाख लोग 
लेकिन उन्हें नहीं पता
हम लाखों में हैं 
वे सैकड़ों में मात्र ...।
स्पार्टन - सा दृढ़ होकर भी 
अधिकार माँगते हैं ! 
हज़ार सालों का इतिहास पता है, लेकिन 
क्या ख़ुद को जानते हैं? 
आधी खुली खिड़की के पीछे से
देखते हैं अपने अधिकारों का रौंदा जाना !
इनसे कैसे पाऐं पार? 
पैने दाँत लिऐ भूखे शिकारी
अधिकार छीनने को तैयार
कहते -2 विवश होकर 
रो पड़ा - एक आम आदमी 
आँसू पोंछते हुऐ पूछा - 
' मजदूरों का पसीना सूखने से पहले
भला मजदूरी उन्हें कहाँ मिलती है?

 

मजदूर अधिकार

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..