Wakil Kumar Yadav

Others


2  

Wakil Kumar Yadav

Others


दर्द ए इश्क़

दर्द ए इश्क़

3 mins 2.9K 3 mins 2.9K

वकू और शिवानी नामक एक लड़का और लड़की कभी बहुत अच्छे दोस्त हुआ करते थे। घंटो बातें करते नहीं थकते थे। धीरे-धीरे उनका प्यार बढ़ता चला गया। दोस्ती प्रेमी और प्रेमिका में तब्दील हो गई। कब तब्दील हो गई पता ही ना चला। लड़का अपने कैरियर को लेकर काफी चिंतित रहने लगा। वही लड़की बिहार पुलिस में भर्ती हो गई। लड़की अब कुछ पैसे कमाने लगी। अब दोनों का मिलना जुलना सिर्फ व्हाट्सएप पर ,फोन कॉल ,वीडियो कॉल के द्वारा होने लगा क्योंकि लड़की का पोस्टिंग अब दूसरे शहर में हो चुका था। 


 एक दिन लड़की ने लड़के को कॉल करके बोली कि वह उसके रूम पर आ रही है क्योंकि एक एग्जाम उस शहर में उस लड़की का पड़ा हुआ था। उस लड़के का भी एक एग्जाम लड़की के एग्जाम से अगले दिन होना था। लड़का बहुत उत्साह पूर्वक हामी भरा और लड़की को अपने रूम पर आमंत्रण हेतु उत्सुकता से उसका स्वागत करने के लिए तैयार हो गया। लड़की के आने से पहले लड़का पूरी अपने रूम की सफाई कर दिया। सारे रूम के सामान को उचित स्थान पर सजा दिया। फाइव स्टार होटल में खाने-पीने जैसी चीजों को पूर्व में ही व्यवस्थित कर लिया यानी फाइव स्टार होटल भी खाने पीने के लिए वह बुक कर दिया होटल वाले को एडवांस में पैसे भी दे दिया क्योंकि वह काफी उत्सुक था कि लड़की आ रही है, उसका बहुत ही गर्मजोशी से स्वागत करेगा, परंतु लड़की उस दिन नहीं पहुंची। लड़का ने लड़की को कॉल लगाया। लड़की ने कॉल नहीं उठाया । लड़का काफी परेशान हो गया। कभी पढ़ाई पर ध्यान लगाता तो फिर 30 से 40 मिनट बाद फिर कॉल लगाता, व्हाट्सएप पर मैसेज करता, वॉइस मैसेज करता, लड़की मैंसेज रिसीव भी करती थी परंतु कोई रिप्लाई नहीं देती थी । सुबह से लेकर रात के 12:00 बजे तक लड़का परेशान रहा ,फोन मिलाते रहा ,कोई बातचीत नहीं हुई। अंत में लड़की का कॉल नहीं आया लड़के को रात भर नींद नहीं लगी। 


अगले दिन सुबह-सुबह पुनः उस लड़की ने 8:00 बजे कॉल करके लड़के को सूचना देती है कि वह किसी और के रूम पर चली गई है। लड़का तो पहले से परेशान था ही यह सुनकर वह काफी दुखी हुआ। अगले दिन उसका भी एग्जाम होना था, कुछ पढ़ाई लिखाई नहीं किया। यूं ही एग्जाम दे दिया। एग्जाम के रिजल्ट भी आ गए। लड़का पास हो गया था, परंतु वह लड़का उस लड़की से इतना प्यार करता था कि लड़का 1 महीने तक मानसिक रूप से डिस्टर्ब रहा। पढ़ाई लिखाई उसकी कुछ नहीं हो पाई ,शारीरिक रूप से वह दुबला पतला हो गया। बीमार पड़ गया परंतु इसका लड़की के ऊपर कोई प्रभाव नहीं पड़ा क्योंकि वह लड़की किसी दूसरे से अचानक प्यार करने लगी थी क्योंकि उसे पैसे की शायद लत लग गई हो। 


कुछ ही दिनों के बाद लड़का को भी ₹68000 पर मंथ पर एक यूनिवर्सिटी में एडमिनिस्ट्रेशन का जॉब मिल गया। यह सुनकर लड़की ने फिर लड़के से संबंध स्थापित करना चाही परंतु अब उसी लड़का ने उसे पूर्ण रूप से मना कर दिया।


 तो आजकल का प्यार कब कौन सी मोड़ ले लेगा कोई नहीं जानता है। प्यार से ज्यादा महत्वपूर्ण आजकल कुछ लोगों के लिए पैसा ही है। इसलिए देखकर, सोच समझकर प्यार करें!


Rate this content
Log in