Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

Dr.Vijay Kumar Puri

Children Stories


4  

Dr.Vijay Kumar Puri

Children Stories


प्यारी अपनी धरती है

प्यारी अपनी धरती है

1 min 230 1 min 230

प्यारी अपनी धरती है और प्यारा अपना देश है।

हरे भरे पेड़ों से सजता, सुंदर ये परिवेश है।।


कुछ लोग यहां पर ऐसे हैं

जो, धरती को गंदा करते हैं

उनकी करनी धरनी से भई

वन्य जीव  सब मरते हैं

उनकी रक्षा करना ही, सब धर्मों का सन्देश है।

हरे भरे पेड़ों से सजता, सुंदर ये परिवेश है।।


गिद्ध और कौए हमसे कहते

हम  धरा की   शान हैं,

प्रदूषण को कम हैं करते

न इससे तुम अनजान हैं

मत ऐसा व्यवहार करो कि लगे हमें पर देस है।

हरे भरे पेड़ों से सजता, सुंदर ये परिवेश है।।


देख यहां पर कूड़ा कचरा

अपना जी भर आया  है,

बहुत कोशिशें कर लीं, लेकिन

सब कुछ न हो पाया है,

कुछ तो अच्छा करना सीखो, नवयुग में प्रवेश है।

हरे भरे पेड़ों से सजता, सुंदर ये परिवेश है।।


सब झूम झूम कर गायेंगे,

हम पर्यावरण बचायेंगे।

धरती के श्रृंगार के लिए,

पेड़ और पौधे लगाएंगे,

जन जन में अब जाग उठा, ये नया नया उन्मेष है।

हरे भरे पेड़ों से सजता,  सुंदर ये परिवेश है।।



Rate this content
Log in