Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Shivans Garhewal

Others

3.0  

Shivans Garhewal

Others

मुझे घर बहुत याद आता है

मुझे घर बहुत याद आता है

1 min
521


हर सुबह वो माँ का मुझे उठाना

और पापा का डांटना याद आता है

मुझे घर बहुत याद आता है,

बहनों के साथ दिनभर मटरगश्ती करना

और उनके कहने पर वो लड़की बनना याद आता है

मुझे घर बहुत याद आता है,


अपनी ज़िद को पूरा करवाने के लिए दिनभर भूखा रहना

और शाम होते ही माँ का हार जाना याद आता है

मुझे घर बहुत याद आता है,


ग़लती करने पर डांटने की वजह वो पापा का

समझाना याद आता है

मुझे घर बहुत याद आता है,

मेरे घर से आने पर माँ का हर बार रोना

और मेरे कॉल ना उठाने पर उनका घबरा जाना याद आता है

हाँ मुझे घर बहुत याद आता है।।



Rate this content
Log in