Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Vinod Verma Ralavta

Others

3.9  

Vinod Verma Ralavta

Others

भारत के वीर

भारत के वीर

1 min
10


है कई गुमनाम वीर अभी , जिन पर बात बाकी है ।

नहीं हुआ तमस का अंत अभी , कुछ रात बाकी है ।।

कई वीर शहीद हुए हैं , सीवर लाइन के मैदानों में ।

भारत निर्माण की नींव लगाते , कोयले की खदानों में ।।

जिस्म चीरती ठंड में , नँगे बदन जो अलाव तपते हैं ।

लहलहाती फसलों के खातिर , इंद्र की माला जपते हैं ।।

हाथ हथोडा , छेनी , गैंती , और करनी का वो ज्ञाता है ।

उसके अनवरत पसीने से भारत विकास कर जाता है ।।

कुछ नायक है जिनके हाथों में बम नहीं , चाक-डस्टर है ।

उनके सांचे में ढलते रोज वैज्ञानिक डॉक्टर कलक्टर है ।।

हिमगिरि से बाहड़मेर की तपती रेतों में गश्त लगाते हैं ।

घर की यादों के विष को वो अमृत समझ पी जाते हैं।।

है बार हजार प्रणाम , इस देश के तमाम ऐसे वीरों को ।

सरहद पर उठनी वाली सेना की चमकती शमशीरों को ।।

   



Rate this content
Log in

More hindi poem from Vinod Verma Ralavta