Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Anima Das

  Literary Colonel

रूह से रूह तक (flash fiction )

Abstract

प्रेम सिर्फ़ दो ज़िस्म नहीं,दो रूह का मिलन है। ...जिसे सिर्फ़ महसूस किया जा सकता है। ....

16    115 1

उस रात के बाद ..

Drama

दरवाजे पर विंडचाइम की आवाज़ आज भी दिल की धड़कन बढ़ा देती है .....जानती हूँ ...अंधेरे मेंं कई साये छु...

4    588 47

वो शाम ...

Drama

अमृत बहुत ही खुश थे ..खुशी से झूम रहे थे जब उन्होने मुझे फ़ोन किया । कहा अरु आज नदी के दो किनारे जरु...

5    269 14

सुवर्णरेखा और मौली

Drama

सहमी हुई मौली दरवाजा खुल कर अवाक रह गई । ये यही आदमी है जो आज सभ्य नज़र आ रहा है ? साहूकार ने मौली स...

6    210 14

मल्लिका

Romance Tragedy

एक काया को उस रूमाल को पकड़ने की कोशिश मेंं भागते हुए .....

8    306 47