Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Kamal Choudhary

  Literary Captain

तुम मत काटना "पंख"

Drama Horror Tragedy

ये चीख-पुकार वो है जिसे हम कभी सुन ही नहीं पाते और बेचारी औरत रोज घुलती रहती है खुद के ही अंदर। घुट-...

12    401 15

पूजा की अंगूठी

Romance

मैं खुद को बद्दुआ दे रहा था। लेकिन अब क्या हो सकता है। मैं अपना माथा पकड़ कर पूरे रास्ते चुप बैठा रहा...

10    839 28

'पूजा' की अंगूठी

Others

कुछ ही देर मैं सब लोग फ्री होगये और खाना खाने चलेगये, उन्ही के साथ मैं और मेरा भाई भी चलदिये।

9    494 11

प्यार जरा संभल कर

Drama Inspirational

दोनों फिर से अपनी मंजिल की तरफ चल देते हैं। इस बार ऋतु ने बिना कहे ही हेलमेट पहन लिया। स्पीड अब भी 5...

7    774 16