Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Nand Kishor Sharma

Others


3  

Nand Kishor Sharma

Others


मैं Qnet में कैसे फंसा - मोहित तर्वे का अनुभव

मैं Qnet में कैसे फंसा - मोहित तर्वे का अनुभव

10 mins 12K 10 mins 12K

Qnet आसान भाषा में मेरा कटा है अब सबका काटूंगा मार्केटिंग

कठिन भाषा में मल्टी लेवल मार्केटिंग

2017 सितंबर दिल्ली

फेसबुक पर अक्सर उसकी फोटो देखने को मिलती थी। कभी फ्लाइंग टू मलेशिया, एक्सप्लोरिंग सिंगापुर, लैंडेड इन दुबई, पार्टी, रेस्टॉरेंट, बहुत बड़ा ग्रुप जिसमे ढेर सारे लड़के लड़कियाँ।

फिर आता है एक दिन उसका मैसेज, ऐसे ही नार्मल हाय हेलो, क्या कर रहे हो, जॉब लग गयी? कहाँ लगी? चैट खत्म…लेकिन ये सिलसिला जारी रहा

मैंने अपने रूम मेट को (वो स्कूल मेट भी था मेरा) यार ये बेंगलुरू वाला चिंटू अचानक कुछ ज्यादा ही फ्री है दो दिन से हाय हेलो कर रहा। अरे याद आ रही होगी तेरी कॉल कर लो, चल कितनी रोटियाँ खायेगा बता कॉल कर लो बड़ा

फिर 4-5 दिन बाद उसने मेरे रूम मेट को मैसेज किया नंबर लिया कॉल किया और हम दोनों से बात की। लेकिन हम दोनों रूम मेट एक ही तरह के पूछा ही नहीं भाई ये सिंगापुर, मलेशिया कैसे

अब उससे रहा नहीं गया तो, उसने खुद ही बोल दिया, चलो यार तुम लोग भी अगले महीने कतर का प्लान है। मैंने बोला ना भाई तुम एन्जॉय करो। वैसे ही जॉब अभी शुरू ही की है मैंने। अबे चलना बहुत आसान है एक-डेढ़ लाख की तो बात है। अच्छा है तरक्की करो…हाँ यार बिजनेस कर रहा।

मैं जॉब कर रहा था इसलिए चिंटू ने मेरे उपर फोकस करना शुरू किया।

हर तीसरे चौथे दिन चिंटू के व्हाट्सअप स्टेटस में कांग्रट्स फलाना भाई फ़ॉर न्यू आउडी, मुबारक हो संकेत भाई BMW..कभी कुछ कभी कुछ…लगते रहता।

एक दिन आँफिस में था उसका बार बार काल आने लगा फिर मैसेज की जरूरी बात है। मैंने बोला आँफिस के बाद काल करता हूँ।

बात हुई उसने बोला एक काम है तू दिल्ली में है तो सोचा बता दूँ , तू अपने जॉब के साथ साथ ही मैनेज कर लेगा। मैंने पूछा कंपनी, प्रोफाइल, सैलरी? उसने बोला देख इनका कांसेप्ट अलग है।

वो सब तो ठीक है यार लेकिन ऐसे ही ना कंपनी का नाम पता, ना पोस्ट? अरे यार तू दोस्त है तुझे ऐसे ही थोड़ी कहीं भेज दूँगा, तू जा मीटिंग फिक्स करता हूँ, काम समझायेंगे, पैसे की बात होगी फिर सोचना जॉइन करना। मैंने बोला वाह अजीब कंपनी है और हल्के में लिया।

अब अपने स्वभाव के अनुरूप मैं फँस गया, क्योंकि किसी ने मेरे लिए किसी से टाइम लिया था। अच्छा सुन राउंड नेक टीशर्ट मत पहनना... फॉर्मल ही पहन लूँ?... नहीं बस राउंड नेक छोड़ कर, कोई शर्ट पहन लेना। अब मैंने सोचा जाना ही पड़ेगा चलो।

लेकिन मैं पहले से रिलैक्स था और कपड़े भी धोने के लिए डाल दिये थे, (शनिवार का दिन था मतलब छुट्टी) जो पहन के जा सकता था। इस चक्कर में एक शर्ट खरीदनी पड़ी दोपहर में। (मेरा रूम मेट इस दौरान घर चला गया था)

बस पहुंचने वाला ही था तब चिंटू ने नंबर दिया जिससे मिलना था, ताकि मैं पहले कॉल कर कुछ पुंछ ना लूं कुछ

मैं लोकेशन पर था, बड़ा सुंदर, भीड़ भाड़, हर एक बड़े ब्रांड के शो रूम। फिर आया अभिलाषा (बदला नाम) का कॉल

हेलो मोहित, आई एम अभिलाषा, हाऊ आर यू ? हाय अभिलाषा आई एम गुड…। ओके वेट एम कमिंग टू रिसीव यू

उसके बाद मोहतरमा आयी एक कैफ़े में ले गयी। इंट्रो लिया, क्यों इस फील्ड में आना चाहते हो? मैंने बोला सॉरी किस फील्ड में? अच्छा चिंटू ने कुछ बताया नहीं?…नहीं। इस बिज़नेस में क्यों आना चाहते हो?

बिजनेस?? दिल से आवाज़ आयी कैब, टाइम, शर्ट मोहित भाई कट गया।

ना ना मैंने दोस्त को मन में गाली नहीं दी, भावनाओं को कंट्रोल किया और कहा ये जो कैब में 367 रुपये का खर्चा बैठा कर गधे तो बन ही गए हो और जाने में अलग से लगेंगे तो आज मलेशिया, सिंगापुर वाला राज जान ही लो।

मैंने कहा कुछ नहीं पैसे कमाने है...वो तो तुम कमा ही रहे हो जॉब में मोहित...नहीं मुझे और ज्यादा कमाने है...फिर मोहतरमा ने बोला बिल्कुल आजकल जॉब में कुछ नहीं रखा।

मुझे ही देख लो जॉब है Accenture में, अच्छा आपने भी इंजीनियरिंग की है? हाँ (मेरा कटा है तुम्हारा भी काटूंगी साइलेंट), थोड़े देर में आसपास देखा कुछ और टेबलों पर भी एक लड़के/लड़की सामने वाले का काटने में लगे थे।

अभी मैं तुमको माइकल के पास ले जाऊंगी मेरे सीनियर है, प्लीज अपना फ़ोन ऑफ कर दो, उनको डिस्टर्बेंस बिल्कुल पसंद नहीं।

माइकल आते है अपनी डायरी लेकर, परिचय में बताया कि मैंने चार्टेड अकॉउंटेन्ट की जॉब छोड़ दी फिर यहां आया, बहुत सारे बड़े बड़े डॉक्टर्स, इंजीनियर, लॉयर सब है हमारे मेंबर्स।

थोड़ा बहुत इंट्रो फिर शुरू होती है काटने की जद्दोजहत। मेरी टेबल के कुछ दूर उनका पूरा ग्रुप था जो मस्ती कर रहा था फ़ोटो ले रहे थे, ठीक वैसे ही जैसे चिंटू के फेसबुक पर पोस्ट देखता था।

कहाँ से हो मोहित…राँची अच्छा, पापा क्या करते है। बिजनेस..गुड...फिर खुलती है उनकी डायरी जिसमे बनाते है पॉइंट A और पॉइंट B

फिर A से B लाइन खींचा और उसपर पेन चलाना शुरू करते है चलाते है चलाते ही जाते है। वो ऐसा कर बताना चाह रहे थे कि इंसान ऑफ़िस/बिजनेस से घर और घर से ऑफ़िस/बिजीनेस यही करता रह जाता फिर एक दिन मर जाता (मैंने मन मे सोच इसके लिए भाई डायरी के पेज में गड्ढे करने की क्या जरूरत थी, सीधा बोल देते मुँह से। खैर

क्या लगता है मोहित तुम हमारे साथ काम कर, वीकली कितना कमा लोगे? मैं कैसे बताऊँ, नो आईडिया। फिर भी गेस करो.. मैंने भी कह दिया 5-10 लाख वीकली (वातावारण को देखकर)

भाई साब, माइकल तो ठहाके लगाने लगा। मुझे भी समझ नहीं आया ज्यादा बोल गया क्या। फिर माइकल कहता है क्या यार मैं तुमको अमाउंट बताऊँ या नहीं, कहीं तुमको अटैक ना आ जाये, तुम सुन पाओगे ना। कुछ देर नाटक कर उसने बोला, हायर लेवल पर तुम वीकली 5–6 करोड़ तक कमा सकते हो। उसके बाद मेरा चेहरा देखता रहा 30 सेकेण्ड

मुझे यही समझ आया या तो ये कोई सस्ता नशा कर बैठा है या इसके सुपीरियर ने इसको सही से ट्रेनिंग नहीं दी है। मतलब खुद यहाँ बैठ कर तुम पेन से डायरी में गड्ढे कर रहे और मुझे सपने दिखा रहे (अच्छा यही तो है इनका बिज़नेस)

फिर उसने बताया कंपनी का नाम जो की था Qnet। माइकल ने मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स की वेबसाइट खोली और दिखाया कि कंपनी रजिस्टर्ड है UIN नंबर और फलाना ढिमकना।

मुझे क्या करना होगा?

देखो मोहित तुम को कुछ भी नहीं करना है बस एक लेवल पर अपनी पोजीशन लॉक करनी है। तुमको बस ट्री पूरा करना है, मतलब अपने नीचे तीन लोगों को जोड़ो एक ट्री पूरा फिर वो तीन लोग और भी तीन-तीन लोगों को जोड़ेंगे। तुम्हारे नीचे जितने जुड़ेंगे सबका कॉमिशन तुम को मिलेगा।

फिर Qnet पर उसने लॉगिन किया जो एक तरह की ecommerce वेबसाइट लगी, जिसका एक्सेस बस मेंबर्स को था। उसमें 30,000 मूल्य से नीचे कुछ था ही नहीं जैसे राडो की घड़ियां, और भी बहुत कुछ भले सब फ़र्ज़ी हो।

तुम्हारे अच्छे दोस्त होंगे सबसे पहले तुम उनको मेंबर बनाने का ट्राई करना (अब मुझे चिंटू याद आया), फिर वो अपने दोस्तों को जोड़ेंगे, बहुत आसान है इसके लिए हम ट्रेनिंग देंगे तुम्हें।

अच्छा पोजीशन लॉक कैसे होगी? तुमको बस 2.5 लाख देना है (बस यही सुनना बाकी था, ना मेरे पास इतने पैसे थे ना देने का इरादा) और अभी एक बहुत इम्पोर्टेन्ट पोजीशन खाली है जॉइन कर लिया तुमने तो समझो तुम्हारे नीचे जॉइन करने वाले बहुत होंगे और सबका कमिशन तुम को मिलेगा।

मैंने बोला 2.5 लाख तो बहुत है और मेरे नीचे किसी ने जॉइन नहीं किया तो? अरे ऐसा कुछ नहीं है तुम पैसे दोगे तो हमारे वेबसाइट से पहले तो तुम कुछ भी खरीद सकते हो 50000 का। (खेल समझिए 2.5 लाख दो फिर कुछ भी 5k-10k की चीज़ वो आपको 30000-40000 में बेचेंगे), और हम मदद करेंगे ना तुम्हारी।

अच्छा उसके बाद जैसे ही तुम एक ट्री पूरा करोगे मेरे नीचे तीन और लोगों को जॉइन करवाऊंगा (मतलब 7.5 लाख ठगों लोगों से)। तो दो महीने बाद हमलोग कतर जा रहे तुम्हारी भी सीट बुक रहेगी, हम टूर पैकेज देंगे।

अच्छा ऐसे जाते है सिंगापुर और मलेशिया (चिंटू)। उसके बाद मैंने बोला ग्रेट...तो बताओ मोहित कैश पेमेंट कर रहे या ऑनलाइन? माइकल ऐसा की इतने पैसे तो अकॉउंट में है नहीं और क्रेडिट कार्ड भी रूम पर है तो अभी तो नहीं हो पायेगा।

ओह बट एम टेलिंग यू मोहित दिस इज़ वेरी इम्पोर्टेन्ट पोजीशन। हाँ मैं समझ रहा हूँ लेकिन बस दो ढाई घण्टे की बात है मैं रूम पहुंच कर ट्रांसफर करता हूँ। फिर भी उसने प्रेशर बनाया, मुझे दिमाग दिया ऐसे कर दो पेमेंट, लेकिन मैं भी बहाने बनाता रहा।

अंत में माइकल ने अपनी टीम से मिलवाया, और कहा ये मोहित है हमारे साथ जुड़ने वाला है। उसके बाद भरोसा दिला कर की मैं बस दो घण्टे में पेमेंट करता हूँ, मैं निकल गया।

ये करोड़ों कमाने वाले कंजर लोगों ने एक चाय तक नहीं पूछी (शायद मैने कुछ भी पेमेंट नहीं किया इसलिए)। खैर मैंने खुद ही पी ली कॉफी निकलने के बाद।

रात के ग्यारह बजे रूम पहुंचा चिंटू के 18 मिस्ड कॉल थे। वो पूरा उत्साहित था कि मैंने हाँ कर दी है। और मैं यहाँ सोच रहा था मतलब ये लोग दोस्त का भी काटने से पीछे नहीं हटते, बाकी के साथ क्या करेंगे।

चिंटू का कॉल आया इस बार मैने उठा लिया। और मोहित कैसा रहा? हाँ भाई मस्त था अच्छा मेरे पास तो इतने पैसे है नहीं...अरे कोई नहीं मैं 20k दे कर लॉक करवा लेता हूँ तेरी पोजीशन, तुम बाद में दे देना। अच्छा और कमाई कितनी होगी शुरू में 15-20k वीकली फिक्स है।

अच्छा तो एक काम कर मेरे 2.5 लाख पूरे तू दे दे। उसके बाद जो कमाई होगी काट लेना 2.5 के जगह 3 लाख ही सही, क्या? नहीं भाई ऐसा नहीं होता। तो कैसा होता है? मेरे पास तो नहीं है इतने पैसे, फिर मैंने कहा अच्छा सुन सैलरी आने दे...

उसके बाद मैं चिंटू को 4–5 दिन ऐसे ही टालता रहा मज़े लेने के लिए। अंत में चिंटू समझ गया था की ऐसे काम नहीं चलेगा ये बकरा तो हाथ से निकल रहा, फिर उसका मैसज आया

जो मुझे लाखों के सपने दिखा रहा था खुद 15k नही होंगे उसके पास, एक डेढ़ साल से जुड़ा था?

इसके बाद हमारी बात नहीं हुई बस उसने 15 अक्टूबर को बर्थडे विश किया, मैंने इसको ब्लॉक नहीं किया। बाद में पता चला स्कूल के कई दोस्तों पर ऐसी कोशिश की थी उसने लेकिन कोई नहीं फँसा

दो साल बाद 2019 दिसंबर मैं और मेरा तब का रूममेट रांची में,

शाम को टहलते टहलते यार चिंटू नहीं दिखता फेसबुक पर तभी तो बोलता था कुछ महीने बाद जर्मन ब्यूटी आउडी लूंगा, जरा चेक कर उसकी प्रोफाइल। चिंटू की प्रोफाइल पर बीते एक साल से कोई हलचल नहीं उसके ग्रुप फ़ोटो में 4-5 लोग जो अक्सर दिखते थे उनकी प्रोफाइल भी शांत, कुछ लड़कियाँ थी उनकी शादी हो चुकी थी।

मैंने और दोस्त ने निष्कर्ष निकाला कि या तो वो आउडी के लिए पैसे जमा करने में व्यस्त है या पुलिस ने पकड़ लिया हो या ये सब जालसाजी पकड़ी गई होगी तो लोगों का काटना छोड़ दिया हो।

एक और दोस्त है मेरा जो जॉब करता है, उसके तो मामा के बेटे ने ही उससे 1.5 लाख ले लिया और धोखे से Qnet जॉइन करवा दिया।

मिला उसे कुछ नहीं ऊपर से हर संडे सेमिनार के लिए बुलाते थे उसका 100 रुपये अलग से लेते। दोस्त कभी गया ही नहीं बहुत बोलने पर उसके ममेरे भाई ने एक घड़ी दे दी जिसका दाम 30,000 बता दिया। बोला बाकी के पैसे दे दूँगा, वो भी नहीं दिया।

इतने विस्तार से बताया ताकि लोग समझ सके किस तरह ये जाल बिछाते है। आपको फ़ोन भी इस्तेमाल नहीं करना है आप गूगल कर लोगे, किसी से पूछ लोगे, आपने बोला कि मैंने तो आपका रिव्यु नेगेटिव देखा है तो सरकारी वेबसाइट दिखा देंगे।

कभी EBIZ, कभी QNET, या Qbizz नाम बदलता रहता है सब एक खेत के मूली है। लोगों को जोड़ेने वाले सिय्यापे में ना फंसे। वरना आप भी वही करोगे

खुद का कटा है अब दूसरों का काटना है, लेकिन ये राह नहीं आसान, आप जो इन्वेस्ट करते हो वही निकाल लो तो समझो तीसमार खा हो आप।

जॉब के लिए भी कभी पैसे मत दीजियेगा 99% फ़र्ज़ी होते है, कभी बताऊंगा। जो लोग कॉलेज में है आपसे कोई 1000 रुपये में भी बोले ना मल्टी लेवल मार्केटिंग जॉइन करने भूल से भी मत जॉइन कीजिएगा, कई केसेस देखे है मैंने और दोस्तों ने, कुछ मुट्ठी भर लोग जो बहुत ऊपर लेवल के रहते है सारा मलाई वो खाते है। बाकी आपकी मर्जी।

आप अगर आपके पास सच में सेल्लिंग स्किल्स है तो उसे निखारिये, सेल्स की जॉब में जाइये, बहुत पैसे है और पूरी तरह से लीगल है, जैसे कोई आम जॉब।

शर्ट तो काम ही आई लेकिन सोचिये 2.5 लाख दे देता तो…

इतनी आसानी से अगर सब अमीर बनते ना तो सड़क पर वैगैन आर से ज्यादा आउडी और BMW ही दौड़ती नज़र आती।



Rate this content
Log in

More hindi story from Nand Kishor Sharma