@otnq8m4q

सागर जी
Literary Colonel
87
Posts
22
Followers
6
Following

My favorite, Premchand.

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 27 Dec, 2020 at 08:35 AM

दूसरों की भलाई के लिए यदि आप कुछ सीखेंगे, तो उसका लाभ आपको अधिक होगा । सागर

Submitted on 17 Dec, 2020 at 06:12 AM

जीवन में आप जिस समस्या से जितना बचने की कोशिश करतें हैं वह उतनी ही बड़ी हो जाती है, अतः संयम रखें, सामना करें और निदान खोजें, समस्या अवश्य कम या दूर हो जाएगी। सागर

Submitted on 27 Jul, 2020 at 10:19 AM

सोना पहनने या रखने से मनुष्य निर्मल या शुद्ध नहीं होता है बल्कि विपत्ति,कष्ट,रोग, कठिनाई तथा असफलता की अग्नि में तपकर ही वह सोने जैसा व्यक्तित्व पाता है । -सागर

Submitted on 24 Jul, 2020 at 14:50 PM

पहले गैर बनके हंसते थे वो, कोई शिकवा न था, मुझे बेगानेपन से । अब अपना लिया है मुझे तो, डर लगने लगा है मुझे, अपनेपन से ।

Submitted on 09 Apr, 2020 at 10:59 AM

दिल को मेरे, दुखा दिया करते हो, भर आए ज़ख्मों को, हवा दिया करते हो । बड़ी मुश्किल से, संभाला है मैंने ख़ुद को, फिर से, मुझे तड़पाने के लिए, जला दिया करते हो ।। सागर

Submitted on 13 Mar, 2020 at 14:02 PM

किसी भी कार्य को संशयरहित होकर करने से परिणाम अच्छे निकलते हैं । सागर

Submitted on 09 Mar, 2020 at 12:28 PM

गुणवान व्यक्ति न बहुत अच्छा बनने और न बहुत अधिक बुद्धिमान होने का प्रर्दशन करते हैं । अज्ञात

Submitted on 07 Mar, 2020 at 15:09 PM

क्यों भटकूं मैं इधर-उधर, जब सारा संसार मेरे पास है क्यों न पा लूं लक्ष्य को, जब लक्ष्य पाने की प्यास है, क्यों छोड़ दूं संकल्प को, जब मुझे, मुझे पर विश्वास है, क्यों न करता रहूं कर्म, जब तक मुझमें श्वास है, जब तक मुझमें श्वास है । सागर

Submitted on 06 Mar, 2020 at 12:15 PM

चूल्हे में लगाई लकड़ी, आग लगी कोयला भई लकड़ी । कुछ ऐसा ही ये तन भी, जल जाए एक दिन, जैसे जले लकड़ी । सागर


Feed

Library

Write

Notification
Profile