Shweta Rani Dwivedi

Children Stories


4.4  

Shweta Rani Dwivedi

Children Stories


"वृद्ध व्यक्ति का कुत्ता"

"वृद्ध व्यक्ति का कुत्ता"

1 min 169 1 min 169

एक वृद्ध व्यक्ति अपने कुत्ते के साथ एक छोटे से शहर में रहता था ।उसका कुत्ता उसके लिए सुबह का अखबार, गेट से दूध का पैकेट लेकर आता था । वह व्यक्ति अपने कुत्ते से बहुत प्रेम करता था उसके बाल सहलाता, उसके लिए रोज खाना लाता, उसके साथ खेलता, दोनों साथ बैठकर खाना खाया करता था ।

एक दिन वह वृद्ध व्यक्ति बीमार पड़ गया। कुत्ता अपने पड़ोसी के घर गया और पड़ोसी को भोग भोग कर बुला कर ले आया, पड़ोसी ने देखा, वृद्ध व्यक्ति बीमार पड़ा थाउठ भी नहीं पा रहा था। ।वह उसे  अस्पताल लेकर गया, अस्पताल में इलाज शुरू हुआ उस वृद्ध व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया, उसका कुत्ता उसके साथ ही अस्पताल में सामने रहने लगा। कुत्ता रोता रहा और अपने मालिक के ठीक होने की दुआ करता रहा। उसे कोई खाने के लिए कुछ देता भी तभी वह कुछ नहीं खाता। 3 दिन तक आदमी अस्पताल में भर्ती रहा। उसका इलाज चलता रहा। कुत्ता 3 दिन तक कुछ भी नहीं खाया, जब उसका मालिक 3 दिन के बाद उठा और उसको अपने हाथ से ब्रेड का टुकड़ा खिलाया तब 3 दिन के बाद उसने खाना खाया । और दोनों स्वस्थ होकर अपने घर चले गए।

 "कुत्ता हमेशा ही इंसान का सच्चा दोस्त था है और रहेगा"


Rate this content
Log in