Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
बड़ी मुद्दत...

बड़ी मुद्दत के बाद आज वक्त को पीछे मोड़ने की तमन्ना है और बीते लम्हों को थाम कर रखने की चाहत है, लगता है अपनों के साथ उन पलों को जीने की 'दिल' की फिर से ख्वाहिश है इसलिए तो बड़े दिनों के बाद इस 'दिल' की बेचैनी का सबब समझ में आया है!!! स्वाती

By Swati Kashyap
 454


More hindi quote from Swati Kashyap
1 Likes   0 Comments
1 Likes   0 Comments
1 Likes   0 Comments
14 Likes   0 Comments
20 Likes   0 Comments