@pbdtyoyr

Ridima Hotwani
Literary Colonel
47
Posts
2
Followers
2
Following

शब्दों के तानों-बानों से अथाह प्रेम।

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 31 Aug, 2021 at 13:13 PM

🌹ये रंग, ये नूर, ये महफिलें मुबारक हों तुम्हें एक कतरा गम का भीगा तुमसे साथ लिये जा रहा हूं मैं अपने🌹🌹

Submitted on 09 Jul, 2021 at 12:01 PM

तू बेवफ़ा है जिंदगी, खबर थी हमें हमसे दर्दिल है, खबर थी हमें अब मुस्कुरा! अजाब में झोंक के हमें हम भी ज़हर हैं, पिये भी जायेंगे और जिये भी जायेंगे तुझे।।

Submitted on 25 May, 2021 at 19:50 PM

बावरी अंखियां, दरस दीवानी श्वासों ने प्यास की गहराई ही न जानी पीकर तृप्त होना हर प्यास का पर्याय नहीं बंधनों में लिपटों को बात ये समझ ना आनी।।

Submitted on 24 May, 2021 at 07:41 AM

हजार बार ढूंढने पर भी जब नजर तुम कहीं नहीं आए अंखियां बंद करके बैठी तो दिल में में ही बसे नजर आये।।

Submitted on 12 May, 2021 at 05:41 AM

जब-जब,, दिल को,,भूलने लगे तुम्हें ये यकीन, दिलाया है,, आंसू बूंद बन आंखों में उतर आया है और आईना कहता है,, दर्पण ने एक असली-नकली चेहरा इन पलकों की चिलमन पे,बिछाया है।।

Submitted on 29 Jan, 2021 at 05:16 AM

इतनी भी ना पिला मुझे साकी कि बेहोशी में लड़खड़ा के गिर जाऊं और तेरी ही (पीने की) तलब से ही महरूम हो जाऊं।।

Submitted on 18 Jan, 2021 at 07:12 AM

आसां सी जिंदगी में मुश्किलें आते वक्त नहीं लगता, मुश्किलातों से भरी ज़िंदगी में, चराग-ऐ-आशादीप, पूर्णतः तो कभी भी नहीं बुझता।।

Submitted on 06 Jan, 2021 at 07:21 AM

चाहत हम दीदार -ऐ- शमां, जगाए बैठें हैं तेरे ही सजदे में, सर अपना झुकाए बैठें हैं।।

Submitted on 19 Dec, 2020 at 02:48 AM

तू जब दूर होता है तो भी पास ही होता है, और जब पास बेहद पास होता है वो पल नायाब-ऐ-खास़ होता है।


Feed

Library

Write

Notification
Profile