@xc5b2sb0

Radha Shrotriya
Literary Captain
106
Posts
28
Followers
9
Following

Poetess, writer, lyricist

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 13 Mar, 2021 at 17:33 PM

आंखों में जो ख़्वाब की सूरत में रहा करता था अब किरकिरी बन गया है आंखों की। _राधा श्रोत्रिया"आशा"

Submitted on 13 Mar, 2021 at 13:45 PM

#समय समय जब अपनी चाल चलता है इंसान अपनी सारी चालें भूल जाता है। _राधा श्रोत्रिय"आशा"

Submitted on 09 Mar, 2021 at 03:54 AM

कम खाकर गम खा लेना पर, कभी भी किसी कमजोर पल में अपनी परेशानी का ज़िक्र अपनों से न करना सिवा दुःख के तुम्हें कुछ हासिल न होगा। _राधा श्रोत्रिय"आशा"

Submitted on 28 Aug, 2020 at 17:47 PM

जिन रिश्तों को निभाने में एक उम्र बिता दी उनमें अपना वजूद ढूंढ रही हूं मैं! _राधा श्रोत्रीय"आशा"

Submitted on 10 Jul, 2020 at 20:15 PM

छुट्टी को छुट्टी दो ना कोरोना प्लीज गो ना _राधा श्रोत्रिय"आशा"

Submitted on 27 May, 2020 at 11:23 AM

उठे ही थे दुआ में हाथ, मेरे लब भी सलामती उसकी रब से माँग रहे थे! _राधा श्रोत्रिय'आशा'

Submitted on 27 May, 2020 at 11:23 AM

खामोशीयां डरान लगती है जब मुझको लफ़्ज़ों की तमाम शहर का शोर अपनी कलम में भर लेती हूँ मैं राधा श्रोत्

Submitted on 19 May, 2020 at 18:53 PM

"प्यार में वो ताकत होती है जो इंसान को जीवन मृत्यु से परे ले जाती है!" राधा श्रोत्रिय"आशा"

Submitted on 19 May, 2020 at 18:53 PM

"प्यार में वो ताकत होती है जो इंसान को जीवन मृत्यु से परे ले जाती है!" राधा श्रोत्रिय"आशा"


Feed

Library

Write

Notification

Profile