@rohvy6b6

Geeta Upadhyay
Literary Captain
116
Posts
110
Followers
0
Following

None

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 08 Feb, 2020 at 15:33 PM

रोज डे प्रपोज डे चॉकलेट डे फ्रेंडशिप डे Valentine Day क्या है यह सब अपनी संस्कृति को भूल कर हम क्यों पाश्चात्य की ओर भाग रहे हैं अपने आपको क्यों दोहरी जिंदगी में बांट रहे हैं नींद में सोए हैं पर लगता है कि जैसे जाग रहे हैं

Submitted on 07 Feb, 2020 at 18:20 PM

हमने न देखा कभी उस ओर जहां बेकाबू होती है दिल की डोर

Submitted on 14 Oct, 2019 at 05:15 AM

क्यों करें याद उन्हें भुला नहीं पाते जिन्हें

Submitted on 03 Oct, 2019 at 06:10 AM

कहीं संगेमरमर के महल भी कम पड़ते हैं रह गुजर के लिए । तो कहीं तिनकों के आशियां भी काफी है उम्र भर के लिए।

Submitted on 03 Oct, 2019 at 06:03 AM

कभी तनहाई में गर आ जाए याद हमारी । तो समझना के हम ही हैं जो धड़कन बनकर धड़कते हैं तुम्हारी।

Submitted on 03 Oct, 2019 at 05:58 AM

कहते हैं हिसाब मांगती है जिंदगी मगर अपना तो गणित कमजोर है यारों

Submitted on 14 Sep, 2019 at 09:51 AM

सदियों बाद अनारकली की आत्मा ने फरमाया गलती तो सलीम की भी थी मुझे ही क्यों चिनवाया

Submitted on 14 Sep, 2019 at 09:46 AM

कहीं सागर से नहीं बुझती है प्यास कहीं शबनम भी दम रखती है प्यास बुझाने की किन बंदिशों में बंधी है मुस्कान तेरी मैंने मुकम्मल कोशिश है कि इसे पाने की खुली आंखों से भी सोया रहा में बंद करके भी नींद नहीं आजकल अब तो जिद भी नहीकरती है मां लोरिया सुनाने की


Feed

Library

Write

Notification
Profile