@pwpp31z3

Kanchan Prabha
Literary Colonel
AUTHOR OF THE YEAR 2019 - NOMINEE

252
Posts
82
Followers
15
Following

I am a govt teacher and poet Instagram's ID -- @i.m_kanchan Email ID -- kanchanprabha81076@gmail.com

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 02 Sep, 2021 at 06:13 AM

हमारे पास जो चीजें हो उन्ही को और भी सुन्दर बनाने की कोशिश करनी चाहिए ---कंचन प्रभा

Submitted on 02 Sep, 2021 at 06:13 AM

हमारे पास जो चीजें हो उन्ही को और भी सुन्दर बनाने की कोशिश करनी चाहिए ---कंचन प्रभा

Submitted on 20 Aug, 2021 at 16:01 PM

काबुल की स्थिती देख कर यकीन करना मुश्किल है कि खुदा ने ऐसे हैवान भी बनाये हैं --कंचन प्रभा

Submitted on 15 Jun, 2021 at 11:24 AM

कोई शख्स दरीचे बन्द करके भी तुफां को रोक नहीं पता है और हम आसमान को देख कर समंदर में उठती लहरों को वापस कर देते हैं -- कंचन प्रभा

Submitted on 15 Jun, 2021 at 11:14 AM

सुलगती नदी थी वो शीतल सा आग था वो तपती रेत को फिर से मुट्ठी मे भर कर उड़ा दिया आँशुओं की ओस में भींगी थी दिल की जमीं यादों के झोंके ने फिर से रूह के चादर उठा दिये --कंचन प्रभा

Submitted on 28 Apr, 2021 at 16:29 PM

मेरी जो भी छवि है वो तेरी देन है! मेरा जो भी अस्तित्व है वो तेरी देन है! बस तुम मेरे पास नहीं हो माँ 😔

Submitted on 22 Apr, 2021 at 18:37 PM

कोई फिक्रमंद अगर जिन्दगी में हो तो बीमार होने का भी अलग ही मजा है -- कंचन प्रभा

Submitted on 22 Apr, 2021 at 18:31 PM

जीवन में आगे बढ़ने के लिये लोगों की बातों को दिल से लगाना छोड़ना पड़ेगा -- कंचन प्रभा

Submitted on 22 Apr, 2021 at 18:25 PM

कुछ बातों केलिये शब्द नहीं बनते खामोशी ही उनकी अल्फ़ाज होती है -- कंचन प्रभा


Feed

Library

Write

Notification
Profile