Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Ashish Kumar Yadav

मैं एक विचार हूँ जो विकसित होना चाहता है । प्रेमपत्र लिखने वाली और टिंडर वाली जेनरेशन के बीच खुद को तलाशने में लगा हूँ ।

  Literary Colonel

Death Is Emancipating

Others Tragedy

People always say that death is frightening, Death is the end of everything,

2    3.8K 4

अब्बा - अम्मी

Inspirational

एक शख्स है जिसने मुझे कभी एक टाइम की रोटी के लिए, मोहताज नहीं होने दिया,

2    7 1

कुछ

Romance Tragedy

मुझ पर खत्म होते है पर अब सब कुछ बेजान है क्योंकि तुम नही हो मैं जी लेता है इन यादों , ...

1    37 0

कइयों की कहानी

Tragedy

प्रेम जैसे प्यारे बंधन को तार-तार किया है।

2    175 9

मुझे माफ़ कर देना

Tragedy

तुम खुश रहो , जहां रहों, जिसके साथ रहो मेरे अथाह स्नेह और पागलपन के लिए तुम्हे पाने के लिए ज़िद के...

3    223 22

तुम सुन रही हो न

Tragedy

तुम सुन रही हो न ! मुझे बार बार तुम्हारा वो खत याद आ रहा है जिसमे तुमने मुझे अपना कहा था। ..

2    221 38

चिता की आग ठंडी होने तक

Inspirational

पछताना की उस शख्श के लिए, जिस के लिए तुम नहीं रुके थे।

2    283 37

दर्द

Others

कुछ कविताएं है जो आत्ममंथन में लिखी गयी है और कुछ मुक्तक है जो तुम्हारी ख़ूबसूरती के बखान में ल...

1    344 35

घर लौट जाने का मन करे तो बताना

Drama

इन महानगरों से जब तुम थक जाओ, और घर लौट जाने का मन करे तो बताना।

3    125 0

जब तक तुम नहीं बोलोगी

Inspirational

सरस्वती का रूप कहकर ज्ञान की देवी तो बतायेंगे, पर उसी ज्ञान से तुम्हें दूर करके इठालायेंगे

1    3.1K 3

तुम मेरे लिए कौन हो ?

Romance

तुम मेरी सबसे अच्छी कहानी का सबसे खूबसूरत किरदार हो । मेरी कविताओं को जो जीवित बनाये, तुम वो श्रृं...

1    2.9K 5

तुम्हारे चले जाने के बाद

Romance

बस, इसलिए मैं अक्सर सोचता हूँ, कि क्या होगा, कैसे होगा तुम्हारे चले जाने के बाद।

2    3.9K 2

ये कैसा विकास है

Drama Inspirational Tragedy

हमको ये सोचना होगा, आखिर कैसा है ये विकास, और हमको चाहिए कैसा विकास ?

2    3.0K 6

बेतरतीब

Inspirational Others

'मन मर्ज़ी से बहने वाली नदिंयों पर बांध बनाना, भरे पूरे जंगल को काटकर वहां बस्तियां बनाना।' एक पर्याव...

1    7.1K 10

प्रेम व्यथा

Romance

समझों न तुम इसे कथा-कहानी, ये है मेरी प्रेम व्यथा पुरानी| मैं बनके खुद श्याम, चाहता हूँ तुम्हें राधा...

1    7.1K 6

मेरे शहर में फिर से चुनाव हो गये

Inspirational

हम राजनीति के कारण इस कदर बंट चुके हैं कि हम खुद का नुकसान कर रहे हैं।

1    13.3K 2

ये दौर

Inspirational

'ये दौर' ऐसी कविता है जो हमे अपने अंदर झाँकने पर मजबूर करती है 

1    14.1K 6

न जाने क्यों ?

Others

कवि नहीं हूँ फिर भी लिख रहा हूँ कविता नहीं अपनी पीड़ा को रच रहा हूँ

1    7.2K 5

कहूँ मैं कैसे?

Comedy

जब एक लड़की कुछ कहती है तब भी गलत, नहीं कहती फिर भी गलत| इस पर ये कविता व्यंग्य है समाज पर ....

1    6.7K 9