Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Rashmi Prabha

शब्द मेरी जाति, भावनाएं मेरा गोत्र, सहनशीलता मेरी पृष्ठभूमि, संवेदना जीवन मंत्र..........इससे अधिक और क्या परिचय दूँ?

  Literary Brigadier

बारिश की बूँदें

Others

प्यारी सहेलियों मेरे संग आओ बादल को छूकर थोड़ा इतराओ छम छम छम छम छम नाचें हम

1    294 0

सिर्फ बारिश

Others

काश, मैं बादलों का समूह होती, झिर झिर झिर झिर बारिश होती सर से पाँव तक - सिर्फ बारिश।

1    21 0

दर्द एक तिलिस्म है

Inspirational

एक रौशनी निकलती है और बिना कुछ कहे रास्तों पर खड़ी कर देती है बढ़ो, जो मुनासिब लगे उस पर !

1    168 0

दीदार

Comedy

फूलों के जहाँपनाह अब कलियाँ भौरों का इंतज़ार नहीं करतीं भौंरों के पीछे दौड़ जाती हैं

1    32 1

आओ तुम्हे चाँद पे ले जाएँ

Others

मैं तो सपने बनाती हूँ लेती हूँ एक नदी, एक नाव, और एक चांदनी

1    24 0

कल का सूरज

Abstract

उगते सूर्य को अर्घ्य चढ़ाया।

1    11 1

पाप पुण्य से परे

Tragedy

हादसों का सच !!! कौन कह पाता है ? खुलासे से तबियत बिगड़ जाती है यूँ भी खुलासे में सिर्फ़ ...

1    270 0

आम और खास से परे - सच कहा न ?

Inspirational

विश्वास हो तो भी, प्रेम मर जाता है शक हो तो भी, प्रेम जी लेता है प्रेम वक़्त का मोहताज नहीं ...

2    309 0

अब नहीं कहता कोई

Others

अब नहीं कहता कोई कि मेरे घर आना ! अगर फिर भी कोई आ गया तो चेहरे पर खुशी नहीं झलकती

1    82 2

अतीत का दर्द..

Tragedy

अति सरल है, 'भूल जाने का परामर्श' देना! इमारत जिंदगी की अतीत के खंडहर पर होती है.....

1    25 2

परछाईं

Others

तथाकथित शुभचिंतक बना समाज बहुत ही हास्यास्पद पोशाक में होता है खुद को सूरमा समझता है

1    21 0

बिना स्याही

Tragedy

बिना स्याही तुमने बहुत कुछ लिखा और बन्द कमरे की स्याह घुटन में मैंने बहुत कुछ पढ़ा

1    1 0

स्मृति कह लो या आत्मा

Abstract

अब इन सबको स्मृति कह लो या आत्मा।

1    31 1

दो आत्माएं और प्यार

Inspirational

जब दो लोग मिलते हैं, तो शरीर की बात होती है .....क्योंकि इससे ऊपर आम इन्सान सोचता ही नहीं , यदि ये स...

1    24 2

मैं और आत्मा

Fantasy

मुझमें समाहित हो मुझे एक मकसद दे जाती है।

1    255 1

कागज़ वाली नाव

Fantasy

इस कागज़ को बीचो बीच किसने फाड़ दिया रंग भी इधर से उधर हो गए अब सात समंदर पार कैसे जाएँगे ?

1    43 0

कागज़ की नाव

Abstract

और जब डूबे तो दो नाम एक साथ होंगे।

1    14 2

कोई शक्ति होती है

Others

पर आत्मा भूत ईश्वर के मध्य ऐसी कई अनुभूतियाँ सबसे परे लगतीं ! जब जब अंधेरा होता ये अनुभूत...

2    381 2

यज्ञ कुंड विचारों का होता है

Drama

देख पाओ या नहीं देख पाओ, देता भगवान ही है।

1    321 1

मैं याचक हूँ, माँगती रहूँगी

Drama

झट से आशीष दे देना, हर हाल में मेरे साथ रहना।

1    245 0

भगवान के नाम पर बेचारा मत बनाओ

Abstract

अरे मन से पुकारो, फिर देखो, हम तुम्हारे पास हैं, साथ हैं।

3    181 0

साथ की अहमियत

Abstract

साथ चलने वाला हमेशा सही होता है।

1    293 1

खुद को खर्चना होता है !

Inspirational

पैसा ज़रूरी है, लेकिन ज़िन्दगी को जीने के लिए खुद को खर्चना होता है !

1    43 2

पुरुष/स्त्री

Inspirational

किसी भी बात की अति, व्यक्ति को अत्याचारी या निरीह बनाती है, और वही होने लगा।

1    24 0

चाँद के हाथों में...

Others

आएँगे चन्दा मामा झूम के खेलेंगे वो संग तुम्हारे

1    24 0

हवाएं इश्क़ कहाँ करती हैं

Classics

मेरा सुत भी हो मुझसा ही यह मेरा इच्छित वर है।

1    146 1

नई उड़ान

Fantasy

चाँद की माँ के गले लगना है, उनको चरखा चलाते देखना है, ज़रा मैं भी तो जानूँ, वो चाँद ...

1    15 1

आओ तुम्हें चाँद पे ले जाएँ.....

Abstract

मैं मासूम बन जाती हूँ अपनी इस सपनों की दुनिया में मैं अक्सर

1    24 0

सृष्टि की दृष्टिजन्य निरंतरता

Abstract

पार तुम अवतार तुम गीता का हर सार तुम !

1    213 1

जिजीविषा का सिंचन जारी है

Inspirational

शून्य अपना सीढ़ियाँ अपनी चाह अपनी कई बार आसमान ही नीचे छलांग लगा लेता है सूरज मेरी हथ...

2    36 2

नई कोपलों के निशां

Others

श्वेत कणों से भरा चेहरा लिए मैंने सपनों की बंजर ज़मीन को मुलायम करना शुरू किया

1    304 2

रिश्तों की पीढ़ी दर पीढ़ी

Others

मैं दुआओं से सुरक्षित हो गया और तुम तुम निश्चिंत हो गए अपनी अंतिम यात्रा के लिए।

1    15 1

हमेशा

Abstract

हमसे बढ़कर दूसरा कोई ज्ञानी नहीं होता हो ही नहीं सकता ...।

2    18 2

परिणाम सबको झेलना होता है

Tragedy

तो भरी सभा में कृष्ण की राजनीति तय थी। दुर्योधन की धृष्टता पर उन्होंने दाँव पेंच नहीं खेले,...

1    16 2

काश ! मान लिया होता

Abstract

मान लेना कुछ दिन की उदासी हो सकती है लेकिन नहीं मानना... !

1    344 1

मेरे सपनों का अंत नहीं हुआ

Abstract

तब भी यह एहसास था कि सामने वाला सुनना नहीं चाहता, उसे कोई दिलचस्पी नहीं है, हो भी क्यूँ ...

2    3 0

घर बेचना है

Abstract

चलो - किसी न किसी दिन बेच दूँगी।

1    189 1

अर्थपूर्ण सार

Inspirational

उनके अनुभव विस्तृत जिंदगी का अर्थपूर्ण सार होते है,

1    93 1

परछाईं

Drama

क्या कहूँ.... कैसा लगता है खुद से खुद को देखना ...।

1    203 0

कुरुक्षेत्र-कर्ण-कृष्ण

Drama

फिर तुम्हीं कहो इसका भविष्य क्या होता ?

4    24 0

कोई शक्ति होती है

Abstract

जो नष्ट होता है वह भ्रमजाल है वियोग- मायाजाल जब हम अपने भ्रम को स्वीकार कर लेते हैं ...

3    5 0

स्मृति कह लो या आत्मा

Drama

वे हैं- अब इन सबको स्मृति कह लो या आत्मा।

2    306 1

स्वयं का आह्वान...........

Inspirational

अपने हौसले, अपने जज़्बे को बाहर लाओ, भगत सिंह, सुखदेव कहीं और नहीं तुम सब के दिलों में हैं,

1    42 2

मैं भारत हूँ !

Tragedy

पैसों के आगे रिश्तों का क्या मूल्य ? एक दिन तो मर ही जाना है न !

2    20 0

जाने हुए अनजाने लेफ्टिनेंट

Tragedy Inspirational

लोग अपने दर्द से निजात चाहते हैं मैं अनदेखे दर्द को जीती हूँ ढूंढती हूँ शून्य में उन दृश्यों क...

1    65 1

दिल की पटरी से धड़धड़ाती ट्रेन

Abstract

हर तरफ, सब हाथ जोड़े खड़े थे,

1    66 1

ये तो मैं ही हूँ !

Horror

आज मैंने मन की ऊँगली पकड़ कर और मन ने मेरी ऊँगली पकड़ उधर गए जहाँ डर की बंदिशें थीं ...

2    71 1

कैसे तय होगा

Others

मैं तो मानती हूँ कि विचारों की स्वतंत्रता ज़रूरी है अपना अपना स्पेस ज़रूरी है तुम भी मानते हो...

1    144 20

कितने दोहरे मापदंड !

Others

परिवार स्त्री-पुरुष से समाज स्त्री-पुरुष से संतान स्त्री-पुरुष से

2    231 2

पुरुष और स्त्री

Tragedy

बिना किसी तर्क के पर्व-त्योहार थे, मेजबान और मेहमान थे।

1    29 1

मैं कुछ कुछ रह गया था यहीं कही

Drama

आँखों में घूम गए वो पल छुट्टियों के जहाँ सभी खड़े होते थे मेरे इंतज़ार में

2    39 2

गुज़ारिश

Abstract

तुमसे फिर कोई शिकायत नहीं होगी तुम्हारी ख़ामोशी मेरी यात्रा में एक अनोखा योगदान होगी

1    299 24

प्यार करने का एक ज़रूरी रास्ता

Others

उनसे मूक भाषा में भी कुछ कहना छोड़ दो कोशिश करके ही सही तुम अवाक' होकर समझने की कोशिश ...

1    20 1

कुछ ठीक करने का बहाना

Others

उसको बेडबॉक्स में रख देते हैं, और भूल जाते हैं । महीने, छह महीने पर जब खोलते हैं तो फिर बहु...

1    25 0

मोक्ष

Drama

जीते जी अपने संचित पुण्यों में किसी को शामिल करो !

1    330 3

मृत्यु के बाद

Abstract

पाप-पुण्य की रेखा से परे ईश्वरीय रहस्य को जाग्रत करना होगा एक युग एक महाकाव्य एक महाग्रं...

1    50 1

मृत्यु को जीने का प्रयास

Others

दम घुटने साँस ले पाने की जद्दोजहद से गुजरता रहा

1    46 0

बन्द रास्ते

Inspirational

बन्द रास्तों के आगे एक रहस्यात्मक विकल्प है ज़िन्दगी...

1    42 1

आसान नहीं मर जाना

Abstract

बाकी सब झूठ है, सिर्फ झूठ, बस झूठ !

1    21 2

लक्ष्य साधना है

Classics

तुम्हें बस यह गांडीव उठाना है और लक्ष्य साधना है...।

1    25 1

सृष्टि की दृष्टिजन्य निरंतरता

Classics Inspirational

छद्म है वर्तमान का, जो लिख रहा अतीत है...

1    26 0

अर्जुन और कृष्ण

Classics

पाँच पुत्रों की माँ होने का दान दिया अपने पुत्र होने का धर्म इस तरह निभाया ...।

1    188 20

शंखनाद करो कृष्ण

Inspirational

मैं जीत अपने सामर्थ्य से चाहती हूँ और तुम्हारा साथ होना वैसे भी मेरी जीत है !

1    44 0

मैं

Inspirational

चीरहरण करता मैं दुःशासन चीर बढ़ाता मैं कृष्ण मैं कौरव का अट्टहास मैं पांडवों की कमजोरी

1    65 1

मैं होनी

Abstract

None

2    368 46

मैं मैं है

Others

मैं यूँ ही नहीं मिलता मैं में उतरना होता है उतरोगे नहीं तो युग भी भ्रमित वेद-ऋचाएँ भ...

1    179 3

लक्ष्य भी हमें साधता है !

Inspirational

लक्ष्य के बढ़े कदमों को अर्थ देना होता है ...।

1    38 1

शतरंज और 'गीता" की पुनरावृति

Abstract

रानी से ख़्वाब थे लेकिन अंजान थी चाल से ऐसे में एक पहचान के लिए जहाँ ज़रूरत पड़ी घोड़े को प...

1    44 1

होनी तो काहू विधि ना टरे

Classics

ईश्वर ने जो सोच रखा है उसमें विघ्न क्यूँ ! होनी तो काहू विधि ना टरे ...

1    216 5

समय पर घोंसले में लौटना ज़रूरी

Inspirational

चाक पर चढ़ने के लिए खुद को कुम्हार के हवाले करना होता है

1    27 0

समय के साथ दृष्टिकोण बदलते हैं

Abstract

समय के साथ दृष्टिकोण बदलते हैं और उनके मायने भी ... !

1    108 2

सबको समय समझाएगा

Others

यदि द्रौपदी का चीरहरण हुआ और सभा बेबस चुप रही?

1    44 0

सपनों का झबला बनाये

Children Stories

चंदा की मम्मा अपने चरखे पे काते सपनों का झबला बनाये ...

1    57 1

तेरे लिए है, तेरे लिए है

Others

चाँद के हाथों में देखो क्या है नींद की डिबिया सपनों का जादू है

1    11 1

कई बीघे जमीन की स्वामिनी

Others

अपने बुने स्वेटरों की सुंगंध में निहाल हो खेलती है नए ऊन के रंगों के संग नए सिरे से

1    39 2

माँ की शक्ति

Inspirational

ममता के जादुई स्पर्श से किराए का दर्द बाँट लेती है।

1    2 0

मायने बदल जाते हैं...

Others

माँ की सीख, पिता का झल्लाना समय की नाजुकता समय की पाबंदी सब सही नज़र आने लगते हैं!

1    323 10

बरगद होने के बाद तुम समझोगे

Children Stories Inspirational

बरगद होने के बाद तुम समझोगे प्रकृति और माँ को।

1    379 40

ऐसी माँ ही ईश्वर होती है !

Inspirational

सही मायनों में ऐसी माँ ही ईश्वर होती है !

1    328 7

आज माँ की कहानी सुनाती हूँ

Others

जब वह किसी कुरुक्षेत्र में न्याय-अन्याय की पैनी धार पे होगा तो सृष्टि में सूर्य कवच सा कौन ह...

2    101 3

मन हो सके तो चलो ........

Drama

एक सपना ले आएँ गाँव से मन हो सके तो चलो ........।

1    202 4

बहुत ही मासूम बचपन था !

Children Stories

बड़े होने की ख्वाहिश थी इसलिए कि किताबों से छुट्टी मिलेगी परीक्षा नहीं देनी होगी।

1    44 1

बोलो ना !

Children Stories Drama

बादलों की पालकी पर चलना है ? बोलो ना, मेरे साथ खेलना है ?

1    74 0

यह जादू, चलता रहे

Children Stories

हाँ, यह दोतरफा जादू, चलता रहे चलता रहे चलता रहे ...।

1    42 1

सपनों की कभी हार नहीं होती

Inspirational

सपनों की कभी हार नहीं होती अपनी जीत मुट्ठी में होती है !

1    74 2

परिस्थितियाँ और बहादुर ...

Drama

कभी आईने में खुद से पूछा ' तुम बहादुर हो ?' सिलसिला जारी है .....

1    52 0

मत कहना, मैंने कहा नहीं !

Abstract

फिर मत कहना, समय रहते ... मैंने कहा नहीं !

2    31 1

तुम मुर्दा हो

Abstract

तो तुम मुर्दा हो अपनी ग़लतियों को गर तुमने हमेशा किसी कारण का जामा पहना दिया या मानने से इंकार...

1    28 0

मन की विक्षिप्तता और परिवर्तन

Abstract

बन्द रास्तों की चाभी इसी तरह मिलती है ...।

1    42 0

निराकार आकार

Drama

मोक्ष नज़दीक होता है रह जाता है निनाद - शून्य का !

1    54 1

मैं...

Drama

मैं अन्धकार से मैं के प्रकाश में कब आता हूँ !

3    33 1

खुद की जड़ें

Inspirational

मैं भी खुद से विमुख खुद की जड़ें ढूँढने लगती हूँ ...।।

2    67 0

नख से शिख तक ज़िंदा रहूँगी

Inspirational

रोम रोम से ज़िंदा रहूँगी, स्वतंत्रता के सही मायने बताऊँगी ...।

1    73 1

मत करो नारी की व्याख्या

Abstract

तुम जब तक उसे पहचानोगे, वह बदल जाएगी।

1    207 42

दामिनी -अरुणा, कौन कौन !

Tragedy

और इस ढेर में कोई पहचान नहीं रह जाएगी !

2    44 0

शीर्षकहीन रचना

Others

बच्चे न प्रश्न करते हैं न उत्तर माँगते हैं प्रश्न और उत्तर वे जानते हैं तो वे या तो चुप रहते हैं या ...

1    1.2K 4

शीर्षकहीन रचना

Others

तुम मुझे क्षमा मत करो  पर मानो  मैंने जानबूझकर कुछ नहीं किया !!!

3    7.0K 3

शीर्षकहीन रचना

Others

असत्य सत्य है  सत्य असत्य है  सौ प्रतिशत न सत्य है  न असत्य !

1    1.2K 5

शीर्षकहीन रचना

Others

झूठ पर अड़ा सत्य कोई हल नहीं था

2    6.9K 4

मेरी ज़रूरत

Others

इसीलिए  न चाहकर भी  तस्वीरों में मैं बुत ही नज़र आया 

1    7.0K 5

प्रिय तुम,

Fantasy

अतीत को भूलने की बात तुम भी करते हो  पर हर घड़ी अतीत में लौटने की चाह  पुरवइया सी मचलती होगी  …

1    1.3K 7

शीर्षकहीन रचना-2

Others

बढ़ने और लौटने की प्रक्रिया…  यही सारांश है हर आत्मकथा का!

1    13.8K 5

शीर्षकहीन रचना

Others

हर कथा को तमाशा बना दिया लोगों ने एक पुतला खड़ा किया जलाया… और सीताओं की बलि चढ़ा दी!

1    13.3K 3

अनुत्तरित प्रश्न

Others

अब - कृष्ण की दशा समझ पाओगे?

1    13.6K 7

जीवन-दर्शन                          

Others

लेना है मुझे वह सबकुछ  जो मेरे सपनों के बागीचे में आज भी उगते हैं 

3    13.4K 2