@g81pp2mf

PRADYUMNA AROTHIYA
Literary Colonel
193
Posts
4
Followers
8
Following

जीवन की कहानी सिर्फ दिन और रात की बनाई दीवारों में मौजूद नहीं, जिसमें उसे समेट कर छोड़ दिया जाए, बल्कि उसकी कहानी 'रात और दिन' तथा 'दिन और रात' के बीच गुजर रहे समय में भी है।

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 06 Jan, 2022 at 04:04 AM

जो हमारा स्वयं पर विश्वास है वही हमारी सबसे बड़ी शक्ति है।

Submitted on 06 Jan, 2022 at 04:02 AM

जो हमें बनना है वो हमें हर हाल में बनना चाहिए।

Submitted on 04 Aug, 2021 at 03:05 AM

समझने के लिए बीता हुआ कल है और आगे बढ़ने के लिए आने वाला कल है।

Submitted on 01 Aug, 2021 at 03:34 AM

पत्थरों के सीने में दिल नहीं होते इसलिए वो दिल के जज्बात नहीं समझते हैं। प्रद्युम्न अरोठिया

Submitted on 31 Jul, 2021 at 02:14 AM

जिंदगी में लचीलापन कठिन से कठिन परिस्थिति में भी उभरने की राह खोज लेता है। प्रद्युम्न अरोठिया

Submitted on 30 Jul, 2021 at 00:38 AM

मुस्कुराने के मौके जिंदगी में बहुत कम मिलते हैं तो क्यों न उन मौकों पर खुलकर मुस्कुरा जाए। प्रद्युम्न अरोठिया

Submitted on 29 Jul, 2021 at 03:53 AM

संजीदगी जीवन में जीवन के महत्व को भलीभांति समझती है। प्रद्युम्न अरोठिया

Submitted on 28 Jul, 2021 at 03:51 AM

जो गुजर गया वो निर्थक नहीं था बल्कि वह सीख का उपहार है। प्रद्युम्न अरोठिया

Submitted on 27 Jul, 2021 at 13:32 PM

हर इंसान अपने बजूद के लिए लड़ रहा है। प्रद्युम्न अरोठिया


Feed

Library

Write

Notification
Profile