Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Vigyan Prakash

इससे अच्छा साहित्य रद्दी में मिलेगा!🌸

  Literary Colonel

Stories?

Abstract

Walking under the trees, Crushing the leaves beneath...

1    142 1

स्पर्श

Romance

ये जरुरी तो नहीं की तुम्हें चूम जब मैं तुझपर अपनी निशानियाँ बना रहा हूँ तो मेरी आँखें बंद हो जाये, ...

2    300 48

भारत

Abstract

मैंने सब नामों को घेर लिख डाला भारत।

1    262 8

मेरे मरने के बाद...

Tragedy

जिन्हें मैं अपने मन के अन्तर्द्वन्द के हाथों हार तोड़ और जला जाऊँगा उसी दिन होगी मेरी

1    49 2

कुत्तों का शत्रु

Tragedy

जहाँ सोते थे कई सितारे उसके साथ और चाँद दिया करता था पहरा सारी रात।

1    170 11

खत अब गैर जरुरी है?

Others

कभी जो खत प्रेमिका के चेहरों से पढ़े जाते थे

1    314 15

देवता आते होंगे

Abstract

शाम की आरती होती है और बजती है घंटी

1    162 36

यादें चोरी कर लाऊँगा

Others

दीवारों पे बनाई वो लकीरें जिनके लिये रोज डांट पड़ती थी। कैद कर लाऊँगा उन्हें इस मोबाइल...

1    228 3

वो आँखें

Others

वो निगाहें, जो कभी हमें देखती, तो जैसे सवालों के जवाब, मिलने लगते मानो,

1    266 1

बन जाओ ना मेरी कविता

Romance

मैं पागल सा एक सन्यासी, या शायर हूँ। बस एक चेहरे में दिलचस्पी, क्यों लेता हूँ।

1    267 3

कचनार के नीचे

Romance

जो सुनी शामें कहीं, एक दूसरे को पढ़ते, गुजारी जाती थी, तुझे मेरे पैरों के निशांं, अब वही...

1    277 1

वो लड़की

Romance

मैंने खुद को ना था कभी इतना जाना, वो मुझको पन्ने दर पन्ने पढ़ जाया करती थी। जाने किस फितरत की ...

1    63 3

पुकार

Romance

दी हुई आवाज की गूँज, जो आज लौट आई है।

1    255 4

अधिकार

Tragedy

रुखे, फटे हाथों से, अपने बच्चे के कोमल गालों को सहलाती, वो उसे पेड़ के नीचे छोड़, ईंट उठाने...

1    346 3

तलाश

Romance Tragedy

जिस गली में तेरा मकां हुआ करता था, कुदरत ने थे उस के हर एक निशां मिटा दिये।

1    227 2

बज़्म

Romance

लकीरें शब्दों की

4    261 1

गाँव कि गलियाँ

Drama

शहरी जंगलों से, उन बगीचों में लौटना असम्भव है।

1    229 2

मै शिव, मुझमे संसार सकल

Drama

मैं शिव, मुझमे संसार सकल।

1    397 8

शून्य

Drama

जो स्वयम्भू को, शिव कर दे,वो है शून्य, अनंत शून्य।

1    223 31