@4mo3659u

Prashi Joshi
Literary Captain
18
Posts
37
Followers
2
Following

I'm Prashi and I love to read StoryMirror contents.

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 21 Aug, 2020 at 19:33 PM

मझधार में हूं और ... साहिल तक जाना है ...

Submitted on 18 Jul, 2019 at 15:06 PM

लौट आओ अब , दिल तुम्हे पुकार रहा है , खुद के जज़्बातों से खुद ही हार रहा है , मिलन का मरहम कब लगेगा इन घावों पर , आजकल दिल ही दिल को चोटें मार रहा है ।


Feed

Library

Write

Notification
Profile