@36csb5e2

ज्योति किरण
Literary Captain
96
Posts
93
Followers
10
Following

|| Poetess || Writer || Motivational Speaker|| Love to write and describe the feelings of life. ♥️ My book अल्फ़ाज़े बयां [काव्य कोष] has been published in November 2018

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 22 Jun, 2021 at 08:54 AM

कौन कहता है कल में, ज़िन्दगी है। जी सको तो, हर पल में ज़िन्दगी है।। -ज्योति किरण

Submitted on 20 Jun, 2021 at 09:52 AM

सुनाया करती है तन्हाई अक्सर उन तरानों को_ जिन्हें हम भूलकर भी अब तलक़ ना भूल पाये हैं।। -ज्योति किरण

Submitted on 06 Nov, 2019 at 11:57 AM

बीती रात का सबब पूछती हैं कमल की पंखुड़ियाँ। मुझसे हर बात का मतलब पूछती हैं कमल की पंखुड़ियाँ।। ~ज्योति किरण

Submitted on 05 Nov, 2019 at 18:10 PM

बंदे से बंदा मिले मिले हाथ से हाथ। एक और एक ग्यारह बने चलें जो मिलकर साथ।। ~ज्योति किरण

Submitted on 19 Aug, 2019 at 16:29 PM

सताना ज़िन्दगी की पुरानी आदत है। मुस्कुराते हुए जीना सच्ची #इबादत है।। ~ज्योति किरण

Submitted on 11 Aug, 2019 at 17:42 PM

नमाज़ -ए- ईद से पहले, हमारी #ईद हो जाए। चाँद खिलने से पहले गर,तुम्हारी दीद हो जाए।। ~ज्योति किरण

Submitted on 04 Aug, 2019 at 13:22 PM

बड़ी शिद्दत से साथ निभाया करते हैं_ इत्र और मित्र ज़िन्दगी महकाया करते हैं..✍️ ~ज्योति किरण

Submitted on 04 Aug, 2019 at 13:15 PM

हयात-ए-सफ़र की मुस्कान है दोस्ती_ दोस्तों से पूछो, तो जान है दोस्ती..✍️ ~ज्योति किरण

Submitted on 02 Aug, 2019 at 09:04 AM

इतनी शिक़ायत न कर ज़िन्दगी से_ रूठ जाओ अगर तुम,मनाती नहीं है। इक खेल शतरंज के जैसा जीवन_ बाज़ी पलट के, फिर आती नहीं है ।। ~ज्योति किरण


Feed

Library

Write

Notification
Profile