@0h1pjj3l

Kalyan Mukherjee (ज़लज़ला)
Literary Captain
9
Posts
14
Followers
0
Following

शफाफ ए शबनम में छिपा शोला हूं तो कहीं इश्क़ के आग में तपता गोला हूं एक खयाल हूं शरारती, बेबाक ओ बदतमीज़ भी ज़हानियत की ताबीर नहीं, मोहब्बत का ज़लज़ला हू़

Share with friends
Earned badges
See all

No Story contents submitted.





Feed

Library

Write

Notification

Profile