Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
मेरी आदत...

मेरी आदत कुछ इस कदर बदल रही है, वो अब दिमाग से मेरे दिल में उतर रही है! मैं तो ज्यादा याद भी नहीं करता हूं उसको, फिर वो क्यों हर बार मेरे अल्फजो में झलक रही है!!

By Anil Yadav
 397


More hindi quote from Anil Yadav
23 Likes   0 Comments
16 Likes   0 Comments
16 Likes   0 Comments
23 Likes   0 Comments
14 Likes   0 Comments